राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने मंगलवार को तमिलनाडु की वेल्लोर संसदीय सीट पर लोकसभा का चुनाव रद्द कर दिया. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. उन्होंने यह फैसला चुनाव आयोग की तरफ से भेजी गई सिफारिश के आधार पर किया. आयोग ने राष्ट्रपति को यह सिफारिश इस संसदीय क्षेत्र में पकड़ी गई भारी मात्रा में नकदी के मद्देनजर भेजी थी. वेल्लोर सीट पर दूसरे चरण के तहत 18 अप्रैल को मतदान होना था. बताया जाता है कि देश के इतिहास में वेल्लोर पहली ऐसी लोकसभा सीट बन गई है जहां भारी मात्रा में नगदी बरामद होने के बाद चुनाव रद्द किए गए हैं.

प्रियंका गांधी वाड्रा को देश उस तरह ही देखेगा जैसे एक चोर की पत्नी को देखता है : उमा भारती

भाजपा नेता उमा भारती ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधा है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक उन्होंने छत्तीसगढ़ की जनसभा में कहा कि प्रियंका चुनाव को प्रभावित नहीं कर पाएंगी. उमा भारती ने कहा, ‘कोई (महिला) जिसके पति पर चोर होने का आरोप है, उन्हें किस रूप में देखा जाएगा? उन्हें उस रूप में ही देखा जाएगा जैसे देश एक चोर की पत्नी को देखता है.’ वहीं, उन्होंने भाजपा प्रत्याशी जया प्रदा के खिलाफ अश्लील टिप्पणी को लेकर सपा नेता आजम खान के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत मामला दर्ज करने की मांग की.

मायावती की गैर-मौजूदगी में उनके भतीजे ने जनसभा की कमान संभाली

बसपा सुप्रीमो मायावती की गैर-मौजूदगी में उनके भतीजे आकाश आनंद ने चुनावी सभा में उनकी जगह ली है. द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक आगरा में महागठबंधन की एक रैली में आकाश बसपा की ओर से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और रालोद प्रमुख अजित सिंह के साथ मंच पर थे. इस जनसभा में आकाश ने कहा कि उनकी (महागठबंधन) जीत गला घोंटने वाले आदेश के खिलाफ मुंहतोड़ जवाब होगा. इस मौके पर बसपा के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा भी मौजूद थे. उन्होंने चुनाव आयोग के आदेश को असंवैधानिक और दलित विरोधी बताया. इससे पहले आयोग ने मायावती के एक बयान पर कार्रवाई करते हुए उनके प्रचार अभियान में हिस्सा लेने पर 48 घंटे की रोक लगा दी थी. बसपा सुप्रीमो ने एक जनसभा में मुसलमानों को एकजुट होकर महागठबंधन को वोट देने की अपील की थी.

नरेंद्र मोदी पर चुनावी हलफनामों में गलत जानकारी देने का आरोप

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर चुनावी हलफनामों में गलत जानकारी देने का आरोप लगाया है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने दावा किया कि नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, उस वक्त उन्हें एक भूखंड आवंटित किया गया था. गांधीनगर स्थित इस भूखंड को लेकर उन्होंने साल 2007 और 2012 के विधानसभा चुनावों और पिछले लोकसभा चुनाव में विरोधाभासी जानकारियां दी हैं. पवन खेड़ा ने आगे बताया कि इस बारे में सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई है. वहीं, चुनाव आयोग से इस पर कार्रवाई करने की भी मांग की गई है.

महाराष्ट्र : आवासीय स्कूल में दो बच्चियों के साथ बलात्कार

महाराष्ट्र के चंद्रपुर में आदिवासी बच्चों के लिए चलाए जा रहे आवासीय स्कूल में दो छात्राओं से बलात्कार का मामला सामने आया है. अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक स्कूल के दो केयरटेकर को इस मामले में आरोपित बनाया गया है. पुलिस ने बताया कि इन आरोपितों के साथ दो महिलाओं को भी गिरफ्तार किया गया है. साथ ही, स्कूल की मान्यता भी रद्द कर दी गई है. बताया जाता है कि 10-10 साल की दोनों पीड़िताओं के बार-बार बेहोश होने की शिकायत के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

छत्तीसगढ़ : सुप्रीम कोर्ट आदिवासियों के घरों को गिराने के मामले पर सुनवाई के लिए तैयार

छत्तीसगढ़ के जंगलों में आदिवासियों के घरों को गिराने के विरोध में दाखिल याचिका पर सुप्रीम कोर्ट 23 अप्रैल को सुनवाई करेगा. इस याचिका में घरों को गिराने की कार्रवाई पर अंतरिम रोक लगाने और सीबीआई जांच की मांग की गई है. दैनिक जागरण में छपी खबर के मुताबिक याचिकाकर्ता वकील ने शीर्ष अदालत को बताया कि जंगलों से अवैध वनवासियों को निकालने पर सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद रायगढ़ जिले के कलमीपाड़ा इलाके में आदिवासियों के घरों को गिराया जा रहा है. याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि कारोबारी नवीन जिंदल के साथ अन्य कंपनियां नेताओं और पुलिस के साथ मिलकर रायगढ़ और अन्य जिलों में आदिवासियों के घरों को गिरा रहे हैं. उन्होंने आगे आशंका जताई कि लोकसभा चुनाव के चलते राजनीतिक दलों के निर्देश पर फिलहाल घरों को गिराने के काम को रोक दिया गया है. हालांकि, राज्य में 23 अप्रैल को चुनाव के बाद फिर से यह कार्रवाई शुरू हो सकती है.