इतिहास में 17 अप्रैल का दिन एक विनाशकारी घटना के अंत के लिए याद किया जाता है. पांच अप्रैल, 1815 के दिन इंडोनेशिया के सैंकड़ों सालों से शांत पड़े तमबोरा ज्वालामुखी में कंपन पैदा हुआ था. उसके ठीक पांच दिन बाद उसमें ऐसा जोरदार विस्फोट हुआ जिसने इतिहास की सबसे बड़ी ज्वालामुखी त्रासदी का रूप ले लिया. बताया जाता है कि करीब एक लाख लोगों की जान लेने के बाद 17 अप्रैल, 1815 को तमबोरा शांत हुआ था.

देश-दुनिया के इतिहास में 17 अप्रैल की तारीख में दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्यौरा इस प्रकार है:

1799 : श्रीरंगपटनम की घेराबंदी शुरू. चार मई को टीपू सुल्तान की मौत के साथ इसका अंत हुआ.

1941 : द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान यूगोस्लाविया ने जर्मनी के समक्ष आत्मसमर्पण किया.

1946 : सीरिया ने फ्रांस से आजादी मिलने की घोषणा की.

1947 : श्रीलंका के महानतम खिलाड़ी मुथैया मुरलीधरन का जन्म.

1971 : मिस्र, लीबिया और सीरिया ने मिल कर यूनाइटेड अरब स्टेट बनाने के लिए संघ का गठन किया.

1975 : भारत के दूसरे राष्ट्रपति एस राधाकृष्णन का निधन.

1977 : स्वतंत्र पार्टी का जनता पार्टी में विलय.

1982 : कनाडा ने संविधान अपनाया.

1982 : अमेरिका ने नेवादा परीक्षण स्थल पर परमाणु परीक्षण किया.

1983 : एसएलवी-3 रॉकेट ने दूसरे रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी की निकट कक्षा में स्थापित किया.

1986 : नीदरलैंड और सिसली के बीच युद्ध की स्थिति को खत्म करने की घोषणा करते हुए शांति बहाल.

1993 : अंतरिक्ष यान एसटीएस-56 डिस्कवरी धरती पर वापस लौटा.