रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और कांग्रेस के बीच नाता जोड़ा है. अभी क़रीब एक सप्ताह पहले इमरान खान ने कहा था कि अगर ‘हिंदुस्तान के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी जीती तो मुझे कश्मीर समस्या हल होने की ज़्यादा उम्मीद है.’ उनके इस बयान को निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस की साज़िश का हिस्सा बताया है.

समाचार एजेंसी एएनआई को दिए साक्षात्कार में रक्षा मंत्री ने कहा, ‘इस तरह का बयान (इमरान खान का) चुनाव के दौरान आया है. कांग्रेस में ऐसे कई नेता हैं जो पाकिस्तान होकर आए हैं. वहां उन्होंने (पाकिस्तान से) गुहार लगाई है कि (नरेंद्र) मोदी को हटाने में हमारी मदद करें. ऐसे में मुझे अचरज नहीं होगा अगर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का बयान भी नरेंद्र मोदी काे सत्ता से हटाने की कांग्रेस की योजना का हिस्सा हो.’

निर्मला सीतारमण ने पाकिस्तान के इस दावे काे भी ख़ारिज़ कर दिया कि भारत 16 से 20 अप्रैल के बीच पाकिस्तानी ज़मीन पर फिर हमला कर सकता है. उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता कि यह तारीख़ें उन्हें कहां से मिलीं. इसलिए मैं उनकी ख़ुशकिस्मती की कामना ही कर सकती हूं’. चुनावों के दौरान नेताओं की बदज़ुबानी पर उन्होंने कहा, ‘राजनेताओं को अपनी बात रखने से पहले थोड़ा विचार ज़रूर करना चाहिए. हमें एक सीमा रेखा तो खींचनी ही होगी. ध्यान रखना होगा कि हम अगली पीढ़ी के लिए क्या छोड़कर जाएंगे.’