इंडोनेशिया में बुधवार को आम चुनाव के लिए मतदान शुरू हुआ. इसे एक ही दिन में होने वाला दुनिया का सबसे बड़ा चुनाव कहा जा रहा है. क्योंकि एक ही बार में अगले राष्ट्रपति, नई संसद और राज्य विधानसभाओं के प्रतिनिधि चुनने के लिए मतदान हो रहा है.

ख़बरों के मुताबिक मतदान प्रक्रिया पूरे देश में एक साथ लगभग आठ घंटे चलेगी. इससे पहले छह महीने तक प्रचार अभियान चला. राष्ट्रपति पद के लिए जोको विडोडो और प्रबोवो सुबियांतो के बीच मुकाबला है. जोको विडोडो मौज़ूदा राष्ट्रपति हैं. उन्होंने 14 साल पहले राजनीति में प्रवेश किया. उस वक़्त वे एक छोटे से शहर के महापौर बने और जल्द ही 2014 में देश के राष्ट्रपति पद तक जा पहुंचे.

वहीं प्राबोवो सुबियांतो इंडोनेशियाई सेना के पूर्व जनरल हैं. वे 2014 में भी राष्ट्रपति पद का चुनाव लड़े थे. लेकिन तब वे नज़दीकी अंतर से हार गए थे. इसीलिए इस बार माना जा रहा है कि वे राष्ट्रपति विडोडो के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं. सुबियांतो ने 63 फ़ीसदी वोट हासिल करने का दावा भी किया है. हालांकि ज़्यादातर आेपिनियन पोल में विडोडो की जीत का अनुमान लगाया गया है.

इंडोनेशिया क़रीब 17,000 समुद्री द्वीपों और दुनिया की सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाला देश है. यहां मतपत्रों से चुनाव हो रहे हैं. मतदान केंद्रों की सुरक्षा में अर्धसैनिक बलों के 10 लाख से अधिक जवान और पुलिस तथा सेना के क़रीब 3,50,000 जवान तैनात हैं. चुनाव में 19 करोड़ से अधिक मतदाता संसद और विधानसभाओं के लगभग 2,45,000 उम्मीदवारों के भाग्य का फ़ैसला करेंगे.