मालेगांव बम धमाके में मारे गए छह लोगों में से एक के पिता ने कहा है कि इस मामले में आरोपित साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को चुनाव लड़ने से रोका जाए. खबर के मुताबिक पीड़ित सैयद अजहर के पिता निसार अहमद सैयद बिलाल ने मुंबई स्थित विशेष एनआईए अदालत में याचिका दायर कर यह मांग की है. इस पर सुनवाई के बाद विशेष न्यायाधीश वीएस पाडलकर ने साध्वी प्रज्ञा को याचिका पर जवाब देने को कहा है.

बता दें कि मालेगांव धमाके की आरोपित साध्वी को भाजपा ने इसी हफ्ते भोपाल से लोकसभा चुनाव का टिकट दिया है. इसके खिलाफ गुरुवार को सैयद अजहर विशेष एनआईए अदालत पहुंच गए थे. इंडियन एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबिक निसार अहमद ने पिछले साल प्रज्ञा ठाकुर को जमानत दिए जाने के फैसले का भी विरोध किया था. उन्होंने कहा कि अगर एनआईए के पास प्रज्ञा के खिलाफ कुछ नहीं है तो यह उनका कर्तव्य है कि वे अदालत को बताएं कि उसके इस कदम (जमानत) से इस बम धमाके के पीड़ितों को बहुत ज्यादा तकलीफ हुई है.

खबर के मुताबिक साध्वी के चुनाव लड़ने के खिलाफ दायर उनकी याचिका में कहा गया है, ‘याचिकाकर्ता ने सम्मानपूर्वक अनुरोध किया है कि मामले की पहली आरोपित (प्रज्ञा ठाकुर) को अदालती कार्रवाई में हाजिर रहने को कहा जा सकता है और चुनाव लड़ने से रोका जा सकता है, क्योंकि मामला अभी चल रहा है और जमानत रद्द करने की याचिका पर सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है.’

निसार अहमद ने अपने वकील शाहिद नदीम के जरिये दायर की अपनी याचिका में कहा है कि प्रज्ञा ने इस आधार पर जमानत ली थी कि वे किसी के सहारे के बिना चल भी नहीं सकतीं, (लेकिन) अब प्रज्ञा साफ तौर पर इतनी स्वस्थ दिख रही हैं कि भयंकर गर्मी के मौसम में चुनाव लड़ सकती हैं. अखबार के मुताबिक याचिका में निसार ने कहा है, ‘उन्होंने (प्रज्ञा) कोर्ट को गुमराह किया है.’