लोक सभा चुनाव के दूसरे चरण में पिछली बार के मुकाबले थोड़ा कम मतदान हुआ है. ख़बरों के मुताबिक इस चरण में 67.7 फ़ीसदी मतदान हुआ है. जबकि इन्हीं सीटों पर 2014 में 69.5 प्रतिशत मतदान हुआ था. हालांकि यहीं एक अहम तथ्य ये भी है कि इस बार श्रीनगर के लगभग 90 मतदान केंद्रों पर एक भी वोट नहीं डाला गया है.

लोक सभा चुनाव के दूसरे चरण में गुरुवार को देश के 12 राज्यों की 95 सीटों पर मतदान हुआ था. इससे पहले 11 अप्रैल को 91 सीटों पर मतदान हुआ था. उसमें 69.4 प्रतिशत मतदान हुआ था. पहले चरण सीटों पर मतदान का आंकड़ा भी 2014 के 70.6 फ़ीसद की तुलना में कम ही था. चुनाव आयोग के मुताबिक अभी हालांकि मतदान के अंतिम आंकड़ों में थोड़ा-बहुत और संशोधन हो सकता लेकिन फिर भी 2014 की तुलना में इस बार दोनों चरणाें में मतदान कम ही रहा है.

अलबत्ता जम्मू-कश्मीर की श्रीनगर सीट पर इस बार के मतदान के आंकड़े दिलचस्प हैं. यहां लगभग 14 प्रतिशत मतदान हुआ है. यह आंकड़ा 2014 के 25 फ़ीसद की तुलना में तो कम है लेकिन 2017 के हिसाब से ज़्यादा. यहां 2017 में लोक सभा उपचुनाव हुआ था. तब सात फ़ीसदी के करीब वोटिंग हुई थी. नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारुक़ अब्दुल्ला चुने गए थे. हालांकि यहीं इस बार के मतदान का दूसरा पहलू ये भी है कि यहां 90 मतदान केंद्रों पर एक भी वोट नहीं डाला गया है.