बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने सोमवार को एक नए क्षेत्र में ‘प्रवेश’ को लेकर एक ट्वीट किया जिसके बाद उनके राजनीति में आने की अटकलें लगने लगीं. इस ट्वीट में अक्षय कुमार ने लिखा था, ‘आज मैं एक अज्ञात और अपरिचित क्षेत्र में प्रवेश करने जा रहा हूं. कुछ ऐसा करने जा रहा हूं जो मैंने पहले कभी नहीं किया. इसे लेकर मैं उत्साहित भी हूं और घबराहट भी महसूस कर रहा हूं. आगे की जानकारी के लिए मेरे साथ जुड़े रहें.’

अक्षय कुमार के इस ट्वीट से राजनीतिक सरगर्मियां तो बढ़ी हीं. साथ ही उनके लोकसभा का चुनाव लड़ने के कयास लगने भी शुरू हो गए. लेकिन कुछ देर बाद एक अन्य ट्वीट के जरिये उन्होंने राजनीति में अपने प्रवेश और चुनाव लड़ने संबंधी अटकलों को खारिज कर दिया. उस ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘मेरे पिछले ट्वीट में रुचि दिखाने के लिए आप सभी का आभार. लेकिन मैं स्पष्ट कर दूं कि मैं चुनाव नहीं लड़ने जा रहा हूं.’

ऐसे में सवाल यह है कि अगर अक्षय कुमार राजनीति में प्रवेश नहीं कर रहे हैं और चुनाव लड़ने भी नहीं जा रहे हैं तो भला उनके लिए वह अज्ञात और अपरिचित क्षेत्र क्या है? इस बारे में हिंदुस्तान टाइम्स ने लिखा है कि अक्षय कुमार ने उस ट्वीट के जरिये एक इंटरव्यू की तरफ इशारा किया था. ऐसा इंटरव्यू जिसे उन्होंने किसी को दिया नहीं बल्कि लिया है. इंटरव्यू देने वाले शख्स कोई और नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं. इसके अलावा किसी गैर पत्रकार को दिया गया नरेंद्र मोदी का यह पहला इंटरव्यू भी है. जल्दी ही इसका प्रसारण ​भी किया जाएगा.

बताया जाता है कि अक्षय कुमार और नरेंद्र मोदी की पुरानी पहचान है और प्रधानमंत्री ने ही उन्हें ऑन कैमरा इंटरव्यू के लिए न्योता दिया था. अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री के उस निमंत्रण को खुशी-खुशी स्वीकार भी किया. जानकारी के मुताबिक देश के गर्म चुनावी माहौल में इस इंटरव्यू का राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है.