दिल्ली पुलिस ने रोहित शेखर तिवारी कथित हत्याकांड मामले में उनकी पत्नी अपूर्वा को आज गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दोनों अपनी शादी से खुश नहीं थे और उनमें लगातार झगड़े होते रहते थे. रोहित शेखर की 16 अप्रैल को कथित तौर पर गला दबाकर हत्या कर दी गई थी.

अपूर्वा से इस मामले में गत रविवार से पूछताछ की जा रही थी. पीटीआई ने पुलिस से मिली जानकारी के आधार पर बताया कि वे लगातार अपने बयान बदल रही थीं जिससे पुलिस को उस पर संदेह हुआ. वहीं, रोहित की मां उज्ज्वला ने रविवार को अपनी बहू अपूर्वा और उनके परिवार पर लालची होने का आरोप लगाते हुए कहा था कि वे पारिवारिक संपत्ति हड़पना चाहते थे. उन्होंने यह भी कहा था कि दंपति के बीच शादी के पहले दिन से झगड़े हो रहे थे.

रोहित शेखर की मौत को पुलिस पहले से हत्या की वारदात से जोड़ कर देख रही थी. पिछले हफ्ते उसने कहा था कि रोहित का गला घोंट कर इस कथित हत्याकांड को अंजाम दिया गया है. रिपोर्टों के मुताबिक हत्या से एक दिन पहले 15 अप्रैल को रोहित उत्तराखंड से लौटे थे. अगले दिन जब उनकी मां इलाज कराने अस्पताल गई थीं, तभी उन्हें रोहित के घर से फोन कर बताया गया कि उनके बेटे की तबीयत खराब है और उनकी नाक से खून बह रहा है. पुलिस के मुताबिक उस समय रोहित की पत्नी अपूर्वा, उनके चचेरे भाई और एक नौकर घर में मौजूद थे.