प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नए-नए प्रयोगों के लिए अपनी एक अलग पहचान बना चुके हें. चुनावों के दौरान भी वे अपनी ख़ासियत को बरक़रार रखे हुए हैं. मिसाल के तौर पर उन्होंने समाचार एजेंसी एएनआई को हाल ही में एक साक्षात्कार दिया. लेकिन यह साक्षात्कार किसी पत्रकार को नहीं बल्कि फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार को दिया. इस दौरान उनसे तमाम मसलों पर खुलकर बातचीत की. उदाहरण के लिए अक्षय की पत्नी ट्विंकल खन्ना की आलोचनाओं का ज़िक्र करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘वह पूरा गुस्सा मुझ पर ही निकाल देती हैं. इससे आपके घर में शांति रहती होगी. इस प्रकार मैं आपके भी काम आया हूं.’ साक्षात्कार का प्रसारण बुधवार को किया गया.

ख़बरों के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह टिप्पणी तब की जब अक्षय कुमार ने उनसे सोशल मीडिया पर उनकी सक्रियता के बाबत सवाल किया. इस पर प्रधानमंत्री ने कहा, ‘मैं आपका भी ट्विटर देखता हूं और ट्विंकल खन्ना जी का भी. कभी-कभी मुझे लगता है कि वो मेरे ऊपर गुस्सा निकालती हैं ट्विटर पे तो उसके कारण आपके पारिवारिक जीवन में बड़ी शांति रहती होगी. उनका पूरा गुस्सा मुझपे निकल जाता होगा इसलिए आपको आराम रहता होगा.’ ग़ौरतलब है कि ट्विंकल खन्ना सोशल मीडिया पर नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों की खुलकर आलोचना करने के लिए जानी जाती हैं. प्रधानमंत्री ने बातचीत के दौरान वही संदर्भ दिया था.

अपने इस ‘ग़ैरराजनीतिक साक्षात्कार’ में प्रधानमंत्री ने एक अन्य सवाल के ज़वाब में कहा, ‘विपक्ष में मेरे कई मित्र हैं. इनमें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल हैं. और आपको जानकर आश्चर्य होगा कि वे आज भी मेरे लिए हर साल एक-दो कुर्ते उपहार में भेजती हैं. ये कुर्ते उनकी ख़ुद की पसंद होते हैं. यही नहीं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने मुझे बंगाली मिठाईयां उपहारस्वरूप भेजना शुरू कीं. ममता दीदी को जब ये पता चला तो वे भी मेरे लिए बंगाली मिठाईयां भेजने लगीं.’

परिवार के साथ रहने की इच्छा से जुड़े सवाल पर नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘मैंने बहुत छोटी उम्र में घर-बार छोड़ दिया था. लिहाज़ा अब में निवृत्त सा जीवन जी रहा हूं. लेकिन हां, अगर मैं प्रधानमंत्री बनने के बाद परिवार से दूर हुआ होता तो शायद मेरे मन में परिजनाें के साथ रहने की इच्छा होती. यह स्वाभाविक भी है. क्याेंकि एक निश्चित उम्र के बाद परिवार से दूर हो पाना निश्चित रूप से मुश्किल होता है. लेकिन चूंकि मैंने कम उम्र में परिवार छोड़ दिया था इसलिए अब मैं उसके बिना रहने का आदी हो गया हूं.’