अहमदाबाद में मंगलवार को लाेक सभा चुनाव के तीसरे चरण के मतदान के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रोड शो के मसले पर भारत निर्वाचन आयोग ने संज्ञान लिया है. आयोग ने इस बाबत गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से रिपोर्ट तलब की है.

ख़बरों के मुताबिक कांग्रेस पार्टी ने प्रधानमंत्री के रोड शो की शिकायत की थी. साथ ही मांग की थी कि प्रधानमंत्री को 48 से 72 घंटे तक चुनावी कार्यक्रमों में भाग लेने से प्रतिबंधित किया जाए. ग़ौरतलब है कि मतदान के तीसरे चरण में मंगलवार को गुजरात की सभी लोक सभा सीटों के लिए वोट डाले गए थे. इसी सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वोट डालने अहमदाबाद पहुंचे थे. यहां उन्होंने मतदान के बाद खुली जीप में यात्रा की. थोड़ा पैदल चले और क़तार में खड़े लोगों से बातचीत की. मीडिया के प्रतिनिधियों से भी उनकी चर्चा हुई. कांग्रेस के नेता अभिषेक मनु सिंघवी के मुताबिक यह चुनाव आचार संहिता का खुला उल्लंघन था.

वहीं एक अन्य मामले में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह द्वारा वायु सेना को ‘मोदी जी की वायु सेना’ कहे जाने के मसले पर भी चुनाव आयोग ने रिपोर्ट मंगाई है. शाह ने पश्चिम बंगाल के कृष्णा नगर में एक चुनावी रैली के दौरान पुलवामा (जम्मू-कश्मीर) में हुए आतंकी हमले और उसके बाद पाकिस्तान के बालाकाेट स्थित आतंकी शिविरों पर भारतीय वायु सेना द्वारा बम गिराए जाने का ज़िक़्र किया था. इस पर आयोग ने कहा, ‘मामला हमारी जानकारी में आया है. इसका विवरण मिलते ही हम परीक्षण करेंगे.’