मशहूर चीनी एप टिकटॉक से बैन हटा लिया गया है. बुधवार को मद्रास हाईकोर्ट ने इस वीडियो शेयरिंग एप से बैन हटाने का आदेश दिया है. खबरों के मुताबिक टिकटॉक की ओर से वरिष्‍ठ वकील इसाक मोहनलाल ने कोर्ट को बताया कि एप पर अश्‍लील और आपत्तिजनक सामग्री अपलोड न हो, इसके लिए कंपनी ने नई तकनीक को अपना लिया है. टिकटॉक ने कोर्ट में हलफनामा दायर कर उसे यह विश्‍वास भी दिलाया है कि एप पर अश्‍लील और आपत्तिजनक सामग्री पर प्रतिबंध सुनिश्चित किया जाएगा.

इससे पहले तीन अप्रैल को अश्‍लील और आपत्तिजनक सामग्री को बढ़ावा देने के आरोप में मद्रास हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को टिकटॉक एप पर पाबंदी लगाने का निर्देश दिया था. तब कोर्ट ने कहा था कि मीडिया रिपोर्ट से यह पता चलता है कि एप के जरिये अश्लील और अनुचित सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है. इसके बाद गूगल और ऐपल ने भारत में इस एप को प्ले स्टोर और एप स्टोर से हटा लिया था. यह मामला इसके बाद सुप्रीम कोर्ट पहुंचा, जहां कोर्ट ने मद्रास हाईकोर्ट को 24 अप्रैल तक बैन के आदेश पर फिर विचार करने का निर्देश दिया था.