भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव प्रक्रिया पूरी होने से पहले ही एक और रिकॉर्ड अपने नाम किया है. ख़बरों के मुताबिक भाजपा पहली बार देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस से ज़्यादा सीटों पर चुनाव लड़ रही है. इतना ही नहीं इस बार भाजपा अपने इतिहास में भी सबसे ज़्यादा सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

भाजपा ने इस बार 545 लोक सभा सीटों में से 437 पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं. जबकि इससे पहले 2009 में उसने तब तक सबसे ज़्यादा 433 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे. भाजपा ने इस मर्तबा कांग्रेस को भी पीछे छोड़ा है. कांग्रेस ने इस बार अब तक 423 सीटों पर प्रत्याशी खड़े किए हैं. जबकि 2014 में उसने 464 और भाजपा ने 428 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे. इनमें से भाजपा के 282 उम्मीदवार जीतकर लोक सभा में पहुंचे थे. वहीं कांग्रेस के सिर्फ़ 44 ही जीत सके थे.

इन दो दलों के अलावा सिर्फ़ बहुजन समाज पार्टी ही है जो बीते दो चुनावों से लगातार सर्वाधिक उम्मीदवार खड़े करने के मामले में तीसरे नंबर पर रही है. बसपा ने 2009 में 500 सीटों पर उम्मीदवार खड़े किए थे. जबकि 2014 में 503 और इस बार अब तक यह पार्टी 139 प्रत्याशियों के नाम घोषित कर चुकी है. हालांकि बीते चुनाव में बसपा एक भी सीट जीतने में सफल नहीं हो पाई थी. यहां तक कि उसके सबसे मज़बूत जनाधार वाले राज्य उत्तर प्रदेश में भी उसे कोई सीट नहीं मिली थी.