सरकार के प्रयासों तथा रिलायंस जियो जैसी निजी कंपनियों के कारण भारत में डेटा पिछले छह साल में 95 प्रतिशत सस्ता हुआ है. इसके कारण इंटरनेट का इस्तेमाल करने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ रही है. मैकिन्जी की एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है.

मैकिन्जी ग्लोबल इंस्टिट्यूट ने ‘डिजिटल इंडिया-टेक्नोलॉजी टू ट्रांसफॉर्म ए कनेक्शन नेशन’ नाम की रिपोर्ट में कहा है कि देश में डेटा के लगातार सस्ते होने से 2023 तक इंटरनेट इस्तेमाल करने वालों की संख्या करीब 40 प्रतिशत बढ़ जाएगी. रिपोर्ट के मुताबिक, 2023 तक स्मार्टफोन रखने वाले लोगों की संख्या भी दोगुनी हो जाएगी.

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि देश का मुख्य डिजिटल क्षेत्र 2025 तक दोगुना बढ़कर 355 से 435 अरब डॉलर का हो जाएगा. भारत डिजिटल उपभोक्ताओं के लिये सबसे तेजी से बढ़ते बाजारों में से एक है. देश में 2018 तक इंटरनेट का उपयोग करने वाले 56 करोड़ लोग थे, जो सिर्फ चीन से कम हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में 2023 तक स्मार्टफोनों की संख्या भी बढ़कर 65 से 70 करोड़ हो जाएगी. रिपोर्ट के अनुसार देश में औसतन सोशल मीडिया पर हर इंटरनेट उपयोगकर्ता सप्ताह में 17 घंटे बिताता है. यह चीन और अमेरिका की तुलना में अधिक है.