रेल यात्रा के दौरान यात्रियों से जबरन वसूली करने के मामलों में रेलवे सुरक्षा बलों ने बीते चार सालों के दौरान 73 हजार से भी ज्यादा किन्नरों को गिरफ्तार किया है. स्क्रोल डॉट इन के मुताबिक रेल मंत्रालय ने यह जानकारी सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत पूछे गए एक सवाल के जवाब में दी है. इसके साथ ही रेल मंत्रालय ने यह भी कहा है कि यात्रियों को ऐसे अपराध से बचाने के लिए रेल विभाग नियमित तौर पर विशेष अभियान चला रहा है.

मंत्रालय के मुताबिक रेल यात्रियों से उसे किन्नरों द्वारा जबरन वसूली करने और उनके साथ दुर्व्यवहार करने संबंधी कई शिकायतें मिली थीं जिसके मद्देनजर यह कार्रवाई की गई है. उन्हीं शिकायतों के आधार पर 2015 से जनवरी 2019 के दौरान कुल 73,837 किन्नर गिरफ्तार किए गए हैं. इनमें 20 हजार किन्नरों को साल 2018 में पकड़ा गया था. इसके अलावा 2015 में कुल 13,546, साल 2016 में 19,800 और 2017 में 18,526 गिरफ्तारियां की गई थीं.

इसके अलावा मंत्रालय ने इस जवाब में रेलवे सुरक्षा को राज्य सरकारों के तहत आने वाला विषय बताया है. साथ ही यह भी कहा है कि रेल परिसरों और यात्रा के दौरान अपराधों की रोकथाम, अपराधों के मामलों को दर्ज करना, उनकी जांच और उनसे जुड़े दस्तावेजों को संभालने की जिम्मेदारी भी राज्यों पर ही होती है. इसमें रेलवे पुलिस की तरफ से भी उनकी मदद की जाती है.