उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ हनोई में हुई शिखर वार्ता को लेकर टिप्पणी की है. उन्होंने अमेरिका पर वार्ता के दौरान ‘बदनीयत के साथ एकतरफा रुख अपनाने’ का आरोप लगाया है. इसके साथ किम जोंग उन ने कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप में शांति अमेरिका पर निर्भर करती है.

पीटीआई के मुताबिक कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनएन) ने बताया कि किम ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ गुरुवार को हुई पहली शिखर वार्ता के दौरान यह बयान दिया. कोरियाई एजेंसी ने किम के हवाले से कहा, ‘कोरियाई प्रायद्वीप और क्षेत्र में हालात अब एक अहम बिंदु पर पहुंच गए हैं... जो फिर से पुरानी स्थिति में पहुंच सकते हैं, क्योंकि अमेरिका ने हाल में दूसरी डीपीआरके-अमेरिका शिखर वार्ता में बदनीयत के साथ एकतरफा रुख अपनाया था.’ खबर के मुताबिक किम ने पुतिन से कहा कि उत्तर कोरिया ‘हर संभावित स्थिति के लिए स्वयं को तैयार करेगा.’

किम के यह बयान देने से करीब एक सप्ताह पहले ही उत्तर कोरिया ने कहा था कि अमेरिका के साथ वार्ता से विदेश मंत्री माइक पोंपियो को हटाया जाए. उसने पोंपियों पर वार्ता प्रक्रिया को पटरी से उतारने का आरोप लगाया था. गौरतलब है कि फरवरी में किम-ट्रंप की दूसरी शिखर वार्ता बिना किसी समझौते के समय से पूर्व समाप्त हो गई थी.