एयर इंडिया के चेक-इन सॉफ्टवेयर में आई तकनीकी खराबी के चलते काफी देर तक एयरलाइन का कामकाज ठप रहा. इस वजह से दुनिया भर में उसके सैकड़ों यात्री करीब छह घंटे तक हवाई अड्डों पर फंसे रहे. पीटीआई ने एयर इंडिया के सूत्रों के हवाले से बताया कि सॉफ्टवेयर शनिवार तड़के करीब तीन बजे से सुबह नौ बजे तक ठप रहा. इस कारण दुनिया भर में प्रमुख हवाईअड्डों पर बोर्डिंग पास जारी नहीं किए जा सके और विभिन्न विमानों की उड़ान में देरी हो गई. हालांकि अब स्थिति सामान्य है.

खबर के मुताबिक राष्ट्रीय विमानन कंपनी के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक अश्विनी लोहानी ने कहा, ‘प्रणाली दुरुस्त कर ली गई है. इसने काम करना शुरू कर दिया है. हम यात्रियों को हुई असुविधा के लिए खेद व्यक्त करते हैं. हम दिन के लिए सभी विमानों को नियमित करने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन आज कुछ विमानों की उड़ान में देरी होगी. मुझे करीब दो घंटे तक की देरी की उम्मीद है, क्योंकि सुबह पूरी प्रणाली बाधित हो गई.’

लोहानी ने कहा कि एयर इंडिया अटलांटा स्थित कंपनी एसआईटीए की यात्री सेवा प्रणाली का इस्तेमाल करती है. यह सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की एक बड़ी कंपनी है जो एयरलाइन के लिए आगमन, बोर्डिंग और सामान ट्रैक करने की तकनीक मुहैया कराती है. लोहानी के मुताबिक आज सुबह इसमें मरम्मत का कार्य किया गया था, जिसके बाद कुछ तकनीकी खामी आ गई.

इस बीच, बोर्डिंग पास जारी नहीं किए जाने से गुस्साए कई यात्रियों ने सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा उतारा. सोनल सक्सेना नाम की एक यात्री ने ट्वीट किया, ‘बिल्कुल अराजकता है. तड़के तीन बजे से दिल्ली में एयर इंडिया का सिस्टम काम नहीं कर रहा है. सभी विमान खड़े हैं और उनकी उड़ान में देरी है. कोई आगमन और बोर्डिंग नहीं.’ इससे पहले पिछले साल 23 जून को एयरलाइन के चेक-इन सॉफ्टवेयर में तकनीकी खामी आई थी. तब देशभर में उसके 25 विमानों ने नियत समय से देरी से उड़ान भरी थी.