दिल्ली पुलिस ने पूर्व क्रिकेटर और अब भारतीय जनता पार्टी के नेता गौतम गंभीर के ख़िलाफ़ मामला दर्ज़ किया है. चुनाव आयोग के निर्देश पर यह कार्रवाई की गई है.

ख़बरों के मुताबिक गौतम गंभीर ने 25 अप्रैल को दिल्ली के जंगपुरा में बिना इजाज़त चुनाव रैली आयोजित की थी. इससे उनके ख़िलाफ़ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का मामला बन गया. इसी आधार पर आयोग ने पुलिस को उन पर मामला दर्ज़ करने का आदेश दिया था. ग़ौरतलब है कि गौतम गंभीर अभी हाल ही में भाजपा में शामिल हुए हैं.

भाजपा ने गंभीर को पूर्वी दिल्ली से अपना उम्मीदवार बनाया है. यहां से 2014 में महेश गिरि भाजपा के टिकट पर जीते थे. लेकिन इस बार उनका टिकट काट दिया गया. इस सीट पर गौतम गंभीर का मुकाबला आम आदमी पार्टी की आतिशी मर्लेना से है. जबकि कांग्रेस ने अरविंदर सिंह लवली को टिकट दिया है.

यहां यह भी याद दिला दें कि आतिशी मर्लेना ने भी गौतम गंभीर के ख़िलाफ़ शिकायत की है. उनके मुताबिक गंभीर ने अपने नामांकन फॉर्म में ग़लत जानकारियां दीं. साथ ही उनके पास दो-दो जगहों के मतदाता पहचान पत्र हैं. इनमें से एक- करोल बाग़ का और दूसरा राजिंदर नगर का. चूंकि दाे मतदाता पहचान पत्र रखना अपराध है इसलिए गंभीर पर कानून के मुताबिक कार्रवाई होनी चाहिए. अदालत इस मामले में एक मई को सुनवाई करने वाली है.