कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भाजपा के ‘राष्ट्रवाद’ पर सवाल उठाया है. रविवार को उन्होंने कहा कि भाजपा प्रत्याशियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर वोट मांगना आखिर किस तरह का राष्ट्रवाद है. अमेठी लोकसभा क्षेत्र के गांवों के दौरे पर प्रियंका गांधी ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘मैं ही मोदी’ में कौन सा राष्ट्रवाद है? राष्ट्रवाद का क्या मतलब है... इसका मतलब है देशभक्ति और देशप्रेम. देश कौन है... देश की जनता और उसका प्रेम है. अगर आपको सिर्फ अपना ही मोह है तो यह कैसा राष्ट्रवाद है?’

पीटीआई के मुताबिक प्रियंका से पूछा गया था कि लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशियों का व्यक्तिगत छवि के बजाय ‘मैं ही मोदी’ नारे के सहारे वोट मांगने का राष्ट्रवाद से क्या कोई लेना-देना है. इस पर कांग्रेस महासचिव ने कहा, ‘जमीन पर सच्चाई बिल्कुल अलग है. जब आप लोगों से मिलेंगे, लोगों से बातचीत करेंगे तो उससे दूसरा संदेश निकलता है. वह संदेश मैंने न तो कभी प्रधानमंत्री जी और ना ही भाजपा के नेताओं द्वारा ग्रहण करते हुए देखा. प्रधानमंत्री अपने ही क्षेत्र में एक भी गांव में नहीं गए, किसी से यह नहीं पूछा कि आपकी क्या समस्याएं हैं.’

प्रियंका ने कहा कि भाजपा सरकार की नीतियां जनविरोधी, युवा विरोधी और किसान विरोधी रही हैं. यहां आवारा पशुओं की बहुत समस्या है. किसान रात-रात भर बैठकर फसल की चौकीदारी करते हैं. अब भी कई जगहों पर बिजली नहीं आती है. प्रियंका अमेठी के गांवों में घूम-घूम कर अपने भाई कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का प्रचार कर रही हैं. राहुल अमेठी से चौथी बार चुनाव मैदान में हैं. यहां उनका मुकाबला भाजपा उम्मीदवार व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से है. अमेठी में 6 मई को मतदान होना है.