उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले स्थित जेल के पांच कैदी दसवीं बोर्ड की परीक्षा में प्रथम श्रेणी में पास हुए हैं. इनमें भीम आर्मी का भी एक सदस्य शामिल है. उस पर सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगा रखा है. शनिवार को यूपी बोर्ड के परीक्षा परिणाम घोषित हुए थे.

टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक जेल अधीक्षक एके सक्सेना ने बताया कि ये पांचों कैदी गाजियाबाद स्थित दासना जेल में आयोजित परीक्षा में बैठे थे. उन्होंने बताया कि उनकी जेल से कुल 10 कैदियों ने दसवीं और बारहवीं की परीक्षा दी थी. सक्सेना ने कहा, ‘बारहवीं की परीक्षा देने वाले पांच कैदियों के परिणाम प्रैक्टिकल के अंक नहीं जुड़ने की वजह से रुके हुए हैं.’

वहीं, दसवीं पास करने वाले कैदियों के बारे में उन्होंने बताया कि इनमें से तीन- कपिल, पंकज और विपुल उम्र कैद की सजा काट रहे हैं. तीनों की उम्र 24-25 साल के बीच है. वहीं, दो अप्रैल, 2017 को दलितों के भारत बंद के दौरान गिरफ्तार किया गया अर्जुन सिंह 19 साल का है. उस पर रासुका लगा हुआ है. वहीं, पांचवें कैदी राहुल कुमार पर अभी हत्या का मुकदमा चल रहा है.