लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में सोमवार को नौ राज्यों की 72 संसदीय सीटों पर कुल 64 फीसदी मतदान हुआ है. यह प्रतिशत तीसरे चरण के मतदान से कम है. तीसरे चरण में 66 फ़ीसदी के क़रीब मतदान हुआ था.

ख़बरों के मुताबिक चौथे चरण के मतदान के दौरान पश्चिम बंगाल और ओडिशा में हिंसा की घटनाएं भी हुई हैं. इनमें कांग्रेस के एक कार्यकर्ता की मौत हो गई. हालांकि मतदान प्रतिशत भी इस बार सबसे ज़्यादा पश्चिम बंगाल में ही रहा. यहां आठ सीटों पर 76.66 फीसदी वोट पड़े. जबकि ओडिशा की छह संसदीय सीटों पर मतदान प्रतिशत 64.05 फ़ीसदी रहा. केंद्र में सरकार चला रही भारतीय जनता पार्टी के लिए चुनाव के इस चरण में काफी कुछ दांव पर लगा है. उसने 2014 में चौथे चरण की 72 सीटों में से 56 पर जीत हासिल की थी.

इस चरण में राजस्थान और उत्तर प्रदेश की 13-13 सीटों पर क्रमश: 67.73 तथा 58.56 प्रतिशत मतदान हुआ. वहीं मध्यप्रदेश की छह सीटों पर 67.09 फ़ीसदी के क़रीब. इसके अलावा महाराष्ट्र की 17 सीटों पर 52, बिहार की पांच सीटों पर 53.67 और झारखंड की तीन सीटों पर 63.42 प्रतिशत मतदान हुआ है. जम्मू-कश्मीर में अनंतनाग देश की इक़लौती संसदीय सीट है जहां तीन चरणों में मतदान हो रहा है. यहां सोमवार को दूसरे चरण की वोटिंग थी. इस दौरान पथराव और हिंसा की घटनाओं के बीच 10.5 फ़ीसदी वोट डाले गए.