विकीलीक्स के सह-संस्थापक जूलियन असांजे को ब्रिटेन की एक अदालत ने 50 हफ्तों की जेल की सजा सुनाई है. खबरों के मुताबिक उन्हें यह सजा ब्रिटेन में जमानत की शर्तों का उल्लंघन करने के मामले में सुनाई गई है. इससे पहले बीते महीने की 11 तारीख को उन्हें लंदन में इक्वाडोर के दूतावास से स्थानीय पुलिस में गिरफ्तार किया था. जूलियन असांजे की वह गिरफ्तारी इक्वाडोर की तरफ से उन्हें मिले राजनीतिक शरणार्थी का दर्जा वापस लिए जाने से संभव हुई थी.

जूलियन असांजे ने इक्वाडोर के उस दूतावास में 2012 से शरण ले रखी थी. उन्होंने वह शरण स्वीडन में अपने खिलाफ लगे यौन उत्पीड़न के एक मामले से बचने के लिए ली थी. हालांकि बाद में बाद में उन पर से उत्पीड़न का वह मामला वापस भी ले लिया गया था. हालांकि उसके बाद भी असांजे उसी दूतावास में ही रह रहे थे.

तीन जुलाई 1971 को ऑस्ट्रेलिया में जन्मे जूलियन असांजे को एक पत्रकार और कम्प्यूटर हैकर के तौर पर पहचाना जाता है. उन्होंने 2006 में विकीलीक्स की शुरुआत की थी. एक खोजी वेबसाइट के तौर पर काम करने वाली विकीलीक्स डॉट ओआरजी ने तब कई देशों की सरकारों के गोपनीय खुलासे किए थे जिससे दुनियाभर में तहलका मच गया था. साल 2010 में विकीलीक्स ने बड़ी संख्या में अमेरिकी सेना के दस्तावेजों का खुलासा किया था जिसे देखते हुए उनके खिलाफ वहां आपराधिक मामला भी दर्ज किया गया था.