बीते महीने ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों के मद्देनजर वहां विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक के टेलीविजन चैनल ‘पीस टीवी’ का प्रसारण रोक दिया गया है. खबरों के मुताबिक श्रीलंका के दो मुख्य केबल ऑपरेटरों ‘डायलॉग’ और ‘एसएलटी’ ने ऐसा किया है. हालांकि इस संबंध में फिलहाल कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है. इस चैनल पर आरोप है कि इसके जरिए युवाओं में कट्टरपंथ को बढ़ावा दिया जाता है.

पीस टीवी की शुरुआत 2006 में जाकिर नाइक की अगुवाई वाली मुबंई स्थित संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन ने की थी. अंग्रेजी भाषा में शुरू किए गए इस चैनल के बाद 2009 में इसका उर्दू जबकि 2011 में बांग्ला संस्करण पेश किया गया था. उधर, जाकिर नाइक के विवादों में आने के बाद भारत और बांग्लादेश ने पहले ही अपने यहां इस चैनल के प्रसारण को प्रतिबंधित कर दिया था.

अपने भाषणों से युवाओं को आतंक की राह पर धकेलने के आरोप में जाकिर नाइक भारत के ‘वांछित’ अपराधियों में से एक है. आतंकवाद के ही एक मामले में साल 2016 में उसके खिलाफ राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मामला दर्ज किया था. इससे पहले कि यह केंद्रीय जांच एजेंसी उसे अपनी गिरफ्त में ले पाती वह मलेशिया भाग गया था. उसके बाद से वह वहीं रह रहा है. उसने वहां की नागरिकता भी ले ली है. इस बीच भारत उसके प्रत्यर्पण को लेकर लगातार कोशिशें कर रहा है.