मध्य प्रदेश के भोपाल से भाजपा की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर पर चुनाव आयोग ने 72 घंटे का प्रतिबंध लगा दिया है. प्रज्ञा ठाकुर अब कल यानी गुरुवार सुबह 6 बजे से 72 घंटे तक चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगी. प्रज्ञा के ‘बाबरी मस्जिद ढहाने का गर्व है’ वाले बयान पर चुनाव आयोग ने उन्हें दोषी मानते हुए उन पर यह कार्रवाई की है.

बीते महीने प्रज्ञा ठाकुर ने बाबरी मस्जिद को लेकर विवादित बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने पर उन्हें अफसोस नहीं, बल्कि गर्व होता है. उनका आगे कहना था, ‘ढांचा गिराने का अफसोस क्यों होगा, उस पर तो हम गर्व करते हैं. राम के मंदिर पर अपशिष्ट पदार्थ थे, उन्हें हमने हटा दिया. इससे हमारे देश का स्वाभिमान जागा है और हम भव्य राम मंदिर मनाएंगे’. उन्होंने इस दौरान ये दावा भी किया था कि बाबरी मस्जिद का ढांचा गिराने में वह भी शामिल थीं.

प्रज्ञा ठाकुर पर कार्रवाई करने के लिए राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एवं भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह ने चुनाव आयोग की सराहना की है. उन्होंने लिखा, ‘भाजपा साम्प्रदायिक विद्वेष की राजनीति करने वालों तथा आतंकवाद के आरोपियों को जब उम्मीदवार बनाएगी तब ऐसा होना स्वाभाविक है. आदर्श लोकतान्त्रिक मूल्यों की स्थापना व संरक्षण हेतु इस प्रकार के प्रत्याशियों का नामांकन रद्द करना श्रेयस्कर होगा.’