अमेरिका ने ईरान को सीधी चेतावनी दी है. अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने रविवार को बताया कि मध्य पूर्व के अमेरिकी सैन्य ठिकाने (यूएस सेंट्रल कमांड रीजन) पर विमानवाहक जंगी जहाज (यूएसएस अब्राहम लिंकन) की उसके हमलावर समूह के साथ तैनाती की जा रही है. इसके साथ ही वहां बमवर्षक विमानों का दस्ता भी तैनात किया जा रहा है.

जॉन बोल्टन ने कहा, ‘मध्य पूर्व से लगातार चेतावनी भरे संकेत मिल रहे हैं. साथ ही ऐसे संकेत भी हैं जिनसे सैन्य संघर्ष छिड़ने का अनुमान लगाया जा सकता है. ख़ास तौर पर ईरान के साथ. इसीलिए यह तैनाती की जा रही है. ताकि ईरान को स्पष्ट संकेत दिया जा सके कि अगर वह अमेरिका या उसके सहयोगी देशों के प्रतिष्ठानों पर हमले की ग़लती करता है तो उसे इसकी भारी कीमत चुकानी होगी. हम ईरान की सेना के साथ प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष दोनों तरह के संघर्ष के लिए पूरी तरह तैयार हैं.’

ग़ौरतलब है कि अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद से ईरान के साथ संबंध फिर तनावपूर्ण हाे गए हैं. ईरान द्वारा अपना परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम न रोकने की वज़ह से अमेरिका ने फिर उस पर आर्थिक प्रतिबंध लगाए हैं. यहां तक कि भारत जैसे अपने सहयोगी देशों को भी ईरान से तेल ख़रीदने पर सख़्त कार्रवाई की चेतावनी दे दी है.