कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘चौकीदार चोर है’ वाली टिप्पणी के लिए सुप्रीम कोर्ट से बिना शर्त माफी मांग ली है. उन्होंने शीर्ष अदालत का गलत हवाला देकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए यह टिप्पणी की थी. रफाल विवाद को लेकर नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने के लिए राहुल गांधी ने कह दिया था कि अब तो शीर्ष अदालत ने भी कह दिया ‘चौकीदार चोर है’.

पीटीआई की खबर के मुताबिक कांग्रेस अध्यक्ष ने आज अपने तीन पन्नों के ताजा हलफनामे में कहा कि वे न्यायालय का बहुत सम्मान करते हैं. इसमें उन्होंने कहा कि वे गलत तरीके से अदालत का हवाला देने को लेकर बिना शर्त माफी मांगते हैं. साथ ही, उन्होंने भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी की ओर से दायर अवमानना के आपराधिक मामले को बंद करने का भी अनुरोध किया.

बता दें कि दिसंबर में सुप्रीम कोर्ट ने रफाल मामले में दर्ज पुनर्विचार याचिका को रद्द करने के केंद्र सरकार के अनुरोध को खारिज कर दिया था. सरकार का कहना था कि ये याचिकाएं चोरी किए गए गोपनीय दस्तावेजों के आधार पर लगाई गई हैं और यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला है. लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस दलील को नहीं माना था. उसके बाद राहुल गांधी ने कहा था कि अब तो ‘सुप्रीम कोर्ट ने भी मान लिया है कि चौकीदार जी ने चोरी की है’.