‘राजीव गांधी ने आईएनएस विराट का इस्तेमाल कभी छुट्टी मनाने के लिए नहीं किया.’  

— एडमिरल एल रामदास, भारतीय नौसेना के पूर्व प्रमुख

एडमिरल एल रामदास ने यह बात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर ‘आईएनएस विराट’ का ‘निजी इस्तेमाल’ करने के आरोप पर कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘राजीव गांधी ने आधिकारिक यात्रा के दौरान आईएनएस विराट का दौरा किया था. तब उनके साथ उनका कोई दोस्त या विदेशी रिश्तेदार मौजूद नहीं था.’ उन्होंने यह भी कहा, ‘नौसेना द्वारा पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिवार की छुट्टियों के लिए भी अपने किसी जहाज का मार्ग परिवर्तित नहीं किया गया था.’

‘नरेंद्र मोदी को सेना का इ​तिहास जानने की जरूरत है.’  

— कैप्टन अमरिंदर सिंह, थलसेना के पूर्व अधिकारी और पंजाब के मुख्यमंत्री

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यह बात एक इंटरव्यू के दौरान ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ को लेकर कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘जो भी सेना के इतिहास के बारे में जानता है, उसे पता होगा कि पहले भी कई बार स्ट्राइक हुई हैं. साल 1964 से 1967 के बीच जब मैं पश्चिमी कमान में था तो मुझे लगता है कि उस दौरान एक सौ स्ट्राइक हुई थीं.’ इसके साथ ही कैप्टन अमरिंदर सिंह का यह भी कहना था, ‘उन्होंने (भाजपा) केवल सर्जिकल स्ट्राइक का नया नाम दिया है. हम लोग इसे क्रॉस बॉर्डर रेड कहा करते थे.’


‘मोदी जी, आपने तो वायुसेना के विमानों को निजी टैक्सी बना लिया है.’  

— रणदीप सिंह सुरजेवाला, कांग्रेस के प्रवक्ता

रणदीप सिंह सुरजेवाला का यह बयान नरेंद्र मोदी के ‘आईएनएस विराट’ वाले बयान पर पलटवार करते हुए आया है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘आप भ्रम फैलाने के लिए फर्जी बातों का सहारा ले रहे हैं. आपने खुद वायु सेना के विमानों का इस्तेमाल करते हुए उसे 744 रुपये जैसा बेहद कम भुगतान किया है.’ रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यह भी कहा कि अब मोदी जी को अपने किए ‘गुनाहों’ से सावधान हो जाना चाहिए.


‘ममता दीदी, मैं आपकाे दीदी कहता हूं, आपका थप्पड़ भी मेरे लिए आशीर्वाद होगा.’  

— नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

नरेंद्र मोदी ने यह बात पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में एक चुनावी रैली संबोधित करने के दौरान वहां की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के एक बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘दीदी, अगर आपने तोलाबाजों (जबरन वसूली करने वाले) के गाल पर भी तमाचा मारा होता तो आपका रिकॉर्ड दागदार नहीं हुआ होता.’ इससे पहले ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री के गाल पर ‘लोकतंंत्र का जोरदार थप्पड़’ मारने की बात कही थी.


‘मोदी आरोप साबित करें या फिर कान पकड़कर सौ उठक-बैठक करें.’  

— ममता बनर्जी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री

ममता बनर्जी ने यह बात नरेंद्र मोदी की तरफ से उन पर कोयला माफिया का हिस्सा होने संबंधी लगाए आरोप पर पलटवार करते हुए कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘अगर नरेंद्र मोदी अपने इस आरोप को साबित कर देते हैं तो मैं राज्य की सभी 42 संसदीय सीटों से अपने उम्मीदवारों के नाम वापस ले लूंगी.’