कांग्रेस के नेता संजय निरूपम ने जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के एक बयान पर पलटवार करते हुए देश के सभी राज्यपालों को ‘सरकार का चमचा’ बताया है. खबरों के मुताबिक संजय निरूपम का यह भी कहना है, ‘बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को ‘भ्रष्टाचारी नंबर- एक’ बताया था. तब उनकी खूब आलोचना हुई थी. इसीलिए मोदी ने उस बात को फिर से दोहराया नहीं. लेकिन अब सत्यपाल मलिक अपनी कुर्सी बचाने के लिए प्रधानमंत्री की चापलूसी करते हुए राजीव गांधी को भ्रष्टाचारी बता रहे हैं.’

संजय निरूपम का यह भी कहना है कि सत्यपाल मलिक को अपने पद की मर्यादा का ख्याल रखना चाहिए और वैसे भी बोफोर्स तोप सौदे के मामले में अदालत ने राजीव गांधी को क्लीन चिट दे दी है.

इससे पहले इसी गुरुवार को सत्यपाल मलिक ने कहा था, ‘राजीव गांधी शुरू में भ्रष्ट नहीं थे लेकिन कुछ लोगों के प्रभाव में आने से वे भ्रष्टाचार में शामिल हो गए थे. उनका यह भी कहना था कि वे उन लोगों का नाम नहीं लेंगे जिनके प्रभाव में आने से राजीव गांधी ने बोफोर्स तोप सौदे में भ्रष्टाचार किया था. मलिक का यह भी कहना था, ‘राजीव गांधी के बेटे राहुल गांधी आज प्रधानमंत्री को ‘चोर’ कह रहे हैं. नरेंद्र मोदी ने राजीव गांधी का नाम लेकर राहुल गांधी को सिर्फ उनकी विरासत बताने की कोशिश की है.’

इधर, यह पहला मौका नहीं है जब संजय निरूपम ने इस तरह का विवादित बयान दिया है. इससे पहले इसी हफ्ते उत्तर प्रदेश के वाराणसी में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए उन्होंने नरेंद्र मोदी की तुलना मुगलकालीन शासक ‘औरंगजेब’ से की थी. उनके उस बयान के लिए चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस भी जारी किया है.