महिंद्रा एंड महिंद्रा की सबकॉम्पैक एसयूवी ‘एक्सयूवी-300’ को बाज़ार से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिल रही है. लॉन्च होने के दो महीने के भीतर ही इस कार की 26,000 यूनिट बुक की जा चुकी हैं, जिससे कंपनी खासी उत्साहित है. ग्राहकों के बीच इस कार की लोकप्रियता इससे समझी जा सकती है कि पिछले महीने यह सेगमेंट की दूसरी सबसे ज्यादा बिकने वाली कार बन गई थी. एक्सयूवी- 300 ने यह मुक़ाम सेगमेंट में टाटा मोटर्स की लोकप्रिय गाड़ी नेक्सन को पछाड़ कर हासिल किया. यहां दिलचस्प बात यह है कि एक्सयूवी- 300 के तीन वेरिएंट्स में से टॉप एंड की डिमांड बाज़ार में सबसे ज्यादा है. महिंद्रा एंड महिंद्रा के मुताबिक अब तक इस कार के टॉप एंड वेरिएंट की बिक्री कुल बिक्री की सत्तर फीसदी रही है. जबकि आमतौर पर दूसरी कारों में यह स्थिति बीच वाले वेरिएंट्स में देखने को मिलती है. इससे पहले इस कार के लॉन्च होने के तीस दिन के भीतर तेरह हजार से ज्यादा यूनिट बुक हुई थीं.

महिंद्रा एंड महिंद्रा की एक्सयूवी-300 उसकी सहयोगी और दक्षिण कोरियाई कंपनी ‘सैंगयोंग’ की एसयूवी ‘टिवोली’ पर आधारित है. एक्सयूवी-300 के टॉप एंड वेरिएंट के साथ फ्रंट पार्किंग सेंसर, डुअल ज़ोन ऑटोमेटिक क्लाइमेट कंट्रोल, 7.0 इंच का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम, फैक्ट्री फिटेड इलेक्ट्रिक सनरूफ और सात एयरबैग्स जैसे फीचर्स आते हैं. इनके अलावा इस कार के टॉप एंड वेरिएंट को माइक्रो हाइब्रिड टेक्नोलॉजी, इनबिल्ट नेविगेशन, स्मार्टफोन कनेक्टिविटी (एपल कारप्ले और एंड्रॉइड ऑटो), हीटेड ओआरवीएम और कंफर्ट, नॉर्मल व स्पोर्ट मोड्स के साथ स्मार्ट स्टिअरिंग जैसी खूबियों से लैस किया गया है.

महिंद्रा एक्सयूवी-300 के अलग-अलग वेरिएंट लुक्स के मामले में एक दूसरे से कुछ अंतर रखते हैं. यदि इस कार के बेस डब्ल्यू-4 मॉडल की बात करें तो उसके साथ एलईडी टेल लैंप्स देखने को मिलेंगे. लेकिन इसके 16 इंच के व्हील्स से कवर और ग्रिल पर क्रोम फिनिश नदारद रहने वाली है. वहीं, इससे ठीक ऊपर वाले मॉडल डब्ल्यू-6 में उपरोक्त खूबियों के साथ ब्लैक रूफ रेल्स भी मिलते हैं. इसके टॉप स्पेक मॉडल के साथ प्रोजेक्टर हेडलाइट्स, एलईडी डे-टाइम रनिंग लाइट्स, 17 इंच के डायमंड कट अलॉय व्हील और विंग मिरर इंटीग्रेटेड एलईडी टर्न इंडीकेटर्स दिए जाएंगे. इस कार में डुअल एयरबैग्स, एंटीलॉक ब्रेकिंग सिस्टम (एबीएस) और इलेक्ट्रॉनिक ब्रेकफोर्स डिस्ट्रिब्यूशन (ईबीडी) के साथ चार डिस्क ब्रेक्स स्टैंडर्ड तौर पर आते हैं.

इसके टॉप एंड वेरिएंट डब्ल्यू-8 के साथ हिल होल्ड असिस्ट, इलेक्ट्रॉनिक स्टेबिलिटी कंट्रोल (ईएससी), फ्रंट व रियर फाग लैंप्स और आएसओ फिक्स चाइल्ड सीट माउंट्स मिलते हैं. इस वेरिएंट में मल्टीपल कलर इल्युमिनेशन विकल्प के साथ इंस्ट्रुमेंट कॉन्सोल, लेदर सीट्स, हाइट एडजस्टेबल ड्राइवर सीट और पुश बटन स्टार्ट जैसी सुविधाएं भी हैं. क्रूज़ कंट्रोल, हाइट एडजस्टेबल फ्रंट सीट बेल्ट्स, टायर पोजिशन डिस्प्ले, रिवर्स कैमरा, ऑटो डिमिंग आईआरवीएम, ऑटोमेटिक हैडलैंप्स व वाइपर्स, इलेक्ट्रिकली एडजस्टेबल व फोल्डेबल ओआरवीएम और रियर सीट आर्मरेस्ट जैसे फीचर्स भी इसमें मिलते हैं.

परफॉर्मेंस के मामले में इस कार के साथ कंपनी का नया 1.2 लीटर क्षमता वाला टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन मिलता है जो 200 एनएम का अधिकतम टॉर्क उत्पन्न करने में सक्षम है. इस कार के डीज़ल वेरिएंट में 1.5 लीटर क्षमता का वही इंजन लगाया गया है जो कुछ महीने पहले लॉन्च हुई कंपनी की ही एमपीवी मराज़ो में देखने को मिलता है. यह इंजन 123 बीएचपी की अधिकतम पॉवर के साथ 300 एनएम का टॉर्क पैदा कर सकता है. कंपनी ने एक्सयूवी-300 के लिए दिल्ली में शुरुआती एक्सशोरूम कीमत 7.90 लाख रुपए तय की है जो कार के टॉप वेरिएंट के लिए 11.99 लाख रुपए तक जाती है.

बीएमडब्ल्यू की नई मिनी जॉन कूपर वर्क्स

जर्मनी की लग़्जरी कार निर्माता कंपनी बीएमडब्ल्यू ने इस हफ़्ते भारत में अपनी मिनी जॉन कूपर वर्क्स हैचबैक लॉन्च कर दी है. कार की एक्सशोरूम कीमत 43.50 लाख रुपए तय की गई है. कंपनी की यह नई पेशकश काफ़ी हद तक उसकी अपनी जेसीडब्ल्यू- 2017 प्रो एडिशन से ही प्रभावित दिखती है. लेकिन देश के बाज़ार में उस कार की सिर्फ़ 20 यूनिट ही उपलब्ध करवाई गई थीं. जो ग्राहक तब जेसीडब्ल्यू प्रो एडिशन को न ख़रीद पाने की वजह से निराश थे, मिनी जॉन कूपर वर्क्स-2019 उनके गैरेज की शान बढ़ा सकती है. इस कार को देश में पूरी तरह आयात किया गया है. कयास हैं कि 3- डोर वाली यह रेसिंग मिनी कार जून के दूसरे हफ़्ते से डीलरशिप पर बिक्री के लिए उपलब्ध करवा जाएगी.

जानकारी के अनुसार भारत में मिनी जॉन कूपर वर्क्स, चिली रेड, एमरेल्ड ग्रे, इलेक्ट्रिक ब्लू, मेल्टिंग सिल्वर, मिडनाइट ब्लैक, सोलरीज़ ऑरेंज, पेपर व्हाइट, थंडर ग्रे, स्टारलाइट ब्लू और व्हाइट सिल्वर एक्सटीरियर पेंट ऑपशन्स में उपलब्ध करवाई जाएगी. लुक्स के मामले में मिनी जेसीडबल्यू के फ्रंट में लगी हैक्सागोनल ग्रिल और बोनट स्ट्रिप्स इस कार को रेस इंस्पायरड लुक देने में बख़ूबी सफल दिखते हैं. इसके अलावा कार में एलईडी डे-टाइम रनिंग लाइट्स के साथ दिए गए स्टैंडर्ड एलईडी हैडलैंप्स और सफ़ेद रंग की कॉन्ट्रास्ट रूफ़ एंड मिरर कैप कार को जमकर स्पोर्टी लुक देते हैं. यदि साइड की बात करें तो यहां 17-इंच के जेसीडब्ल्यू ट्रेक स्पोर्ट लाइट अलॉय व्हील्स को ब्लैक फिनिशिंग दी गई है. वहीं कार के रियर लुक में, क्रोम फिनिश वाली डबल एक्ज़ास्ट टेलपाइप्स चार चांद लगाते हैं.

जैसे कि बीएमडब्ल्यू अपने सुरक्षा मानकों को लेकर वैश्विक बाज़ार में प्रतिष्ठित है, उसने मिनी जॉन कूपर वर्क्स- 2019 में भी सुरक्षा और मजबूती को लेकर सराहनीय काम किया है. मिनी के इस नए मॉडल में बेहतर स्प्रिंग्स के साथ हल्के सस्पेंशन दिए हैं, जो इस गाड़ी की ड्राइव को जबरदस्त स्मूथ बनाने में मदद करते हैं. कार में नए एंट्री रोल बार भी दिए गए हैं. इसके अलावा इस कार में तीन ड्राइविंग मोड- स्पोर्ट, कम्फर्ट और एफिशिएंसी मिलते हैं, जो अलग-अलग रास्तों के हिसाब से आपको इंजन की परफॉर्मेंस नियंत्रित करने की सहूलियत देते हैं.

परफॉर्मेंस के मामले में कंपनी ने मिनी जॉन कूपर वर्क्स- 2019 में हाई-परफॉर्मेंस 2.0-लीटर का चार-सिलेंडर पेट्रोल इंजन दिया है जो 228 बीएचपी की अधिकतम पॉवर के साथ 320 एनएम का पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है. इस दमदार इंजन की मदद से यह कार 0-100 किमी/घंटा की रफ़्तार पकड़ने में महज़ 6.1 सेकंड का समय लेती है. कार का जो मॉडल भारतीय बाज़ार में उतारा जाएगा उसके इंजन को 8-स्पीड स्पोर्ट्स स्टेप्ट्रॉनिक ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन से लैस किया गया है.

भारत में निर्मित जेएलआर की एसयूवी वेलर की बिक्री शुरु

ब्रिटेन की लग्ज़री कार निर्माता कंपनी लैंडरोवर ने भारत में ही निर्मित नई एसयूवी रेंजरोवर वेलर की बिक्री शुरु कर दी है. इससे पहले इस कार को (सीबीयू) यूनिट के तौर पर यानी पूरी तरह इंपोर्ट किया जाता था. देश में तैयार की गई वेलर की कीमत 72.47 लाख रुपए तय की गई है जो इसके आयातित मॉडल की कीमत से करीब 25 लाख रुपए कम है. डिज़ाइन, लुक्स और फीचर्स के मामले में देसी रेन्जरोवर वेलर कंपनी के आयात किए जाने वाले मॉडल जैसी है, जिसमें ऑल-एलईडी हैडलैंप्स, डिप्लॉयेबल फ्लश हैंडल और इंटीग्रेटेड रियर स्पॉइलर, एंबिएंट लाइटिंग, फोर-ज़ोन क्लाइमेट कंट्रोल और 10-इंच का डुअल टचस्कीन जैसी खूबियां मौजूद हैं.

जगुआर लैंड रोवर की भारतीय इकाई ने रेन्ज रोवर वेलर को सिर्फ एक ट्रिम ‘आर डायनामिक- एस’ में उपलब्ध करवाया है. कंपनी ने इस एसयूवी को चार सिलेंडर वाले 2.0-लीटर के पेट्रोल और डीज़ल इंजन से लैस किया है. कार के पी250 पेट्रोल वेरिएंट में लगा इंजन 247 बीएचपी पावर और 365 एनएम का पीक टॉर्क जनरेट करता है. इस दमदार इंजन की मदद से यह एसयूवी 0-100 किमी/घंटा स्पीड पकड़ने में सिर्फ 7.1 सेकंड का समय लेती है. वहीं रेन्जरोवर वेलर के डी180 वेरिएंट में लगा इंजन 177 बीएचपी की पॉवर और 430 एनएम का अधिकतम पीक टॉर्क पैदा करने में सक्षम है और 0-100 किमी/घंटा की रफ़्तार पकड़ने में इसे 8.9 सेकंड का समय लगता है. नई वेलर के साथ ऑल-टेरेन प्रोग्रेस कंट्रोल सिस्टम दिया गया है जो ड्राइव टेरेन को इलेक्ट्रिक रूप से बदलता है.

भारत में निर्मित वेलर के बाज़ार में आने के बाद ऑटो विशेषज्ञों का कहना है कि देश में ही तैयार होने की वजह से जगुआर लैंड रोवर के वाहनों की कीमतों में कमी देखने को मिली है जिससे आने वाले समय में कंपनी का बिक्री प्रतिशत बढ़ने के साथ बाज़ार में उसका शेयर मजबूत होने की भी संभावना है.