पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में की गई एयर स्ट्राइक का वीडियो नहीं बनाया जा सका था क्योंकि हमले के दौरान आसमान में बादल छाए हुए थे. वायुसेना की बालाकोट एयर स्ट्राइक की समीक्षा के दौरान यह बात सामने आई है.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक, बालाकोट एयर स्ट्राइक के दौरान वायुसेना ने जैश-ए-मोहम्मद के ठिकाने पर स्पाइस-2000 ग्लाइड बमों के साथ निशाना लगाया, लेकिन उसके साथ इजरायल की हवा से जमीन में मार करने वाली ‘क्रिस्टल मेज’ मिसाइल को नहीं दागा जा सका. इसकी वजह यह थी कि उस समय आसमान में बादल थे. ‘क्रिस्टल मेज’ मिसाइल में ऐसी तकनीक है जो हमले का वीडियो फीड उपलब्ध करा देती. लेकिन बादलों के कारण वायुसेना हवाई हमले का वीडियो नहीं ले पाई.

इसी कारण वायुसेना को अपने इस हवाई हमलों की समीक्षा के लिए रणनीतिकों साझीदारों से मिली सेटेलाइट तस्वीरों का इस्तेमाल करना पड़ा. लेकिन गोपनीयता की शर्तों के कारण वायुसेना ने इन तस्वीरों को सार्वजनिक नहीं किया. हालांकि, अभी यह स्पष्ट नहीं है कि भविष्य में इन तस्वीरों को दिखाया जाएगा या नहीं.