श्रीलंका ने ईस्टर हमलों के बाद 200 मौलानाओं को देश से निष्कासित किया | रविवार, 05 मई 2019

श्रीलंका ईस्टर आत्मघाती बम धमाकों के बाद से अब तक 200 मौलानाओं समेत 600 से ज्यादा विदेशी नागरिकों को निष्कासित कर चुका है. एक मंत्री ने बीते रविवार को यह जानकारी दी. श्रीलंका के गृहमंत्री वाजिरा अभयवर्द्धने ने कहा कि मौलाना वैध रूप से देश में आए थे, लेकिन हमलों के बाद हुई सुरक्षा जांच में पाया गया कि वह वीजा खत्म होने के बावजूद देश में रह रहे थे. इसके लिये उन पर जुर्माना लगाकर देश से निष्कासित कर दिया गया. अभयवर्द्धने ने कहा, ‘देश में सुरक्षा की ताजा स्थिति को ध्यान में रखते हुए हमने वीजा प्रणाली की समीक्षा की और धार्मिक शिक्षकों के लिये वीजा प्रतिबंध को कड़ा करने का निर्णय लिया.’ (विस्तार से)

अमेरिका मध्य पूर्व में विमानवाहक जहाज और बमवर्षक विमानों का दस्ता तैनात कर रहा है : जॉन बोल्टन | सोमवार, 06 मई 2019

अमेरिका ने ईरान को सीधी चेतावनी दी है. अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने बताया कि मध्य पूर्व के अमेरिकी सैन्य ठिकाने (यूएस सेंट्रल कमांड रीजन) पर विमानवाहक जंगी जहाज (यूएसएस अब्राहम लिंकन) की उसके हमलावर समूह के साथ तैनाती की जा रही है. इसके साथ ही वहां बमवर्षक विमानों का दस्ता भी तैनात किया जा रहा है. बोल्टन ने कहा, ‘मध्य पूर्व से लगातार चेतावनी भरे संकेत मिल रहे हैं. साथ ही ऐसे संकेत भी हैं जिनसे सैन्य संघर्ष छिड़ने का अनुमान लगाया जा सकता है. ख़ास तौर पर ईरान के साथ. इसीलिए यह तैनाती की जा रही है. ताकि ईरान को स्पष्ट संकेत दिया जा सके कि अगर वह अमेरिका या उसके सहयोगी देशों के प्रतिष्ठानों पर हमले की ग़लती करता है तो उसे इसकी भारी कीमत चुकानी होगी.’ (विस्तार से)

म्यांमार : रोहिंग्या हिंसा की रिपोर्टिंग के लिए गिरफ्तार किए गए रॉयटर्स के दोनों पत्रकार रिहा | मंगलवार, 07 मई 2019

म्यांमार ने रोहिंग्या जनसंहार की रिपोर्टिंग करने वाले रॉयटर्स के दोनों पत्रकारों को रिहा कर दिया. अंतरराष्ट्रीय समाचार एजेंसी ने दोनों की रिहाई के बाद की तस्वीरें जारी की. यू वा लोन (33) और यू क्याव सोए ऊ (29) को दिसंबर, 2017 में गिरफ्तार किया गया था. इन दोनों पत्रकारों पर आरोप था कि इन्होंने म्यांमार के आधिकारिक गुप्त कानून का उल्लंघन करते हुए एक पुलिस अधिकारी से दस रोहिंग्या ग्रामीणों की हत्या से जुड़े दस्तावेज हासिल किए थे. (विस्तार से)

आखिरकार आसिया बीबी को आजादी मिली, पाकिस्तान छोड़ कनाडा पहुंची | बुधवार, 08 मई 2019

पाकिस्तान में बहुचर्चित ईशनिंदा मामले में बीते साल बरी की गईं ईसाई महिला आसिया बीबी चुपचाप देश छोड़कर कनाडा पहुंच गई हैं. उनके वकील ने बुधवार को मीडिया को यह जानकारी दी है. बीबी के वकील सैफुल मलूक ने ब्रिटिश अखबार द गार्डियन को बताया, ‘यह बड़ा दिन है, आसिया बीबी पाकिस्तान छोड़कर कनाडा पहुंच गई हैं. वह अब अपने परिवार के साथ हैं. न्याय मिल गया है.’ (विस्तार से)

तेल और गैस के बाद अमेरिका ने ईरान के धातु उद्योग पर भी प्रतिबंध लगाया | गुरुवार, 09 मई 2019

अमेरिका और ईरान के बीच रिश्तों में तनाव बढ़ता जा रहा है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक आदेश जारी करते हुए अब ईरान के धातु उद्योग पर प्रतिबंध लगा दिया है. उन्होंने ये कदम ईरान के उस बयान के बाद उठाया है जिसमें कहा गया था कि वो परमाणु समझौते से जुड़ी कुछ शर्तों से बाहर निकल रहा है. ईरान के निर्यात में तेल और गैस के बाद सबसे बड़ा हिस्सा धातु उद्योग का ही है. इससे पहले अमेरिका ईरान के तेल और गैस कारोबार पर भी प्रतिबंध लगा चुका है. (विस्तार से)

सिंगापुर में फेक न्यूज अब अपराध | शुक्रवार, 10 मई 2019

सिंगापुर ने फेक न्यूज के बढ़ते चलन को रोकने के लिए बड़ा कदम उठाया है. उसने एक कानून पारित कर इसे अपराध की श्रेणी में ला दिया है. यह कानून सिंगापुर की सरकार को फेक न्यूज संबंधी सामग्री को रोकने या उसे हटाने का अधिकार देता है. वहीं, फेक न्यूज फैलाने पर जुर्माना और दस साल तक की जेल की सजा हो सकती है. (विस्तार से)

पाकिस्तान के ग्वादर में एक फाइव स्टार होटल पर हथियारबंद आतंकवादियों का हमला | शनिवार, 11 मई 2019

पाकिस्तान के तटीय शहर ग्वादर के एक पांच सितारा होटल पर कुछ सशस्त्र आतंकवादियों ने हमला कर दिया. ग्वादर देश के बलूचिस्तान प्रांत में स्थित है. पाकिस्तान के अखबार डॉन ने ग्वादर की पुलिस के हवाले से बताया कि पर्ल कॉन्टिनेंटल होटल में तीन से चार हथियारबंद आतंकवादियों के घुसने के बाद जबरदस्त गोलीबारी हुई. बीबीसी के मुताबिक यहां के विद्रोही गुट बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी की माजिद ब्रिगेड ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली.(विस्तार से)

देश और दुनिया की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें.