आर्थिक संकट से गुजर रहे पाकिस्तान को बड़ी राहत मिली है. खबर है कि रविवार को पाकिस्तान और अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के बीच एक समझौता हुआ है. इसके तहत आईएमएफ खस्ताहाल अर्थव्यवस्था वाले इस देश को तीन वर्षों में छह अरब डॉलर का (42,000 करोड़ रुपये से ज्यादा) ‘बेलआउट पैकेज’ देगा.

पीटीआई के मुताबिक पाकिस्तान के ‘डॉन न्यूज’ ने वित्त, राजस्व एवं आर्थिक मामलों पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के सलाहकार डॉ अब्दुल हफीज शेख के हवाले से यह खबर दी है. उन्होंने कहा कि स्टाफ स्तर पर हुए इस समझौते को अभी वॉशिंगटन में आईएमएफ बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की औपचारिक मंजूरी मिलनी बाकी है.

हालांकि आईएमएफ ने इस समझौते की औपचारिक घोषणा नहीं की है. लेकिन पाकिस्तान के अधिकारियों की मानें तो इसे लेकर स्टाफ स्तर प हुई बातचीत अहम रही. बीबीसी के मुताबिक आईएमएफ ने अपनी वेबसाइट पर इस बारे में बताते हुए कहा, ‘पाकिस्तान आर्थिक चुनौतियों से जूझ रहा है. उसके विकास की रफ्तार धीमी हो गई है और महंगाई बढ़ी है. वह कर्ज़ में डूब गया है. वैश्विक स्तर पर भी उसकी स्थिति अच्छी नहीं है.’