फिलीपींस में सोमवार को मध्यावधि चुनाव के लिए मतदान शुरू हो गया. इस चुनाव में राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते के सहयोगियों और विपक्ष के बीच कड़ा मुकाबला है. एक तरफ दुतेर्ते के सहयोगियों का मकसद सीनेट में अपना दबदबा बनाने का है. वहीं दूसरी ओर विपक्षी उम्मीदवार शक्ति संतुलन स्थापित करने के लिए लड़ रहे हैं.

ख़बरों के मुताबिक इस चुनाव के जरिए फिलीपींस के करीब 6.2 करोड़ मतदाता लगभग 18,000 संसदीय और स्थानीय पदों के लिए 43,500 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. सबसे प्रमुख लड़ाई 24 सदस्यीय सीनेट की 12 सीटों के लिए है. दुतेर्ते अपना एजेंडा आगे बढ़ाने के लिए इन सीटों को अपने सहयोगियों से भरना चाहते हैं. जबकि विपक्ष सीनेट को शक्ति संतुलन कायम करने के अंतिम गढ़ के रूप में देख रहा है क्योंकि निचले सदन- प्रतिनिधि सभा में दुतेर्ते के वफादारों का दबदबा पहले से है.

कई विश्लेषक इस चुनाव को अवैध मादक पदार्थ कारोबार के खिलाफ दुतेर्ते की कठोर कार्रवाई पर एक महत्वपूर्ण जनमत संग्रह के रूप में देख रहे हैं. मनीला के विश्लेषक रिचर्ड हेयडारियन ने कहा, ‘राष्ट्रपति दुतेर्ते का नाम भले मतपत्र पर नहीं है. लेकिन यह उनके तीन वर्षों के उठापटक भरे कार्यकाल के लिए एक जनमत संग्रह निश्चित तौर पर है’ रिचर्ड के मुताबिक, ‘इस चुनाव के परिणाम से पता चलेगा कि फिलीपींस के लोग दुतेर्ते के तानाशाही शैली वाले नेतृत्व के समर्थन में हैं या उसे ख़ारिज़ करते हैं.’