‘आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिंदू था जिसका नाम नाथूराम गोडसे था.’  

— कमल हासन, अभिनेता और एक राजनीतिक पार्टी - मक्कल नीधि मय्यम के संस्थापक

कमल हासन ने यह बात ​तमिलनाडु में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कही. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं यह बात यहां इसलिए नहीं कह रहा क्योंकि यह मुसलमान बहुल इलाका है. मैं इसलिए ऐसा कह रहा हूं क्योंकि मैं महात्मा गांधी की हत्या का जवाब खोजने के लिए आया हूं.’ इसके साथ ही कमल हासन ने यह भी कहा, ‘मैं ऐसा स्वाभिमानी हिंदुस्तानी हूं जो समानता वाले भारत की चाहत रखता है.’

‘नरेंद्र मोदी ने राजनीतिक लाभ के लिए अपनी पत्नी को भी छोड़ दिया.’  

— मायावती, बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख

मायावती ने यह बात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर व्यक्तिगत निशाना साधते हुए कही. इस मौके पर सवालिया लहजे में उन्होंने यह भी कहा, ‘जिसने अपनी पत्नी को छोड़ दिया हो वह दूसरे की बहन और पत्नी का सम्मान भला कैसे करेगा.’ इसके साथ ही मायावती ने यह भी कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में विवाहित महिलाएं अपने पतियों को नरेंद्र मोदी के नजदीक जाते देखकर घबरा जाती हैं. क्योंकि उन्हें लगता है कि कहीं प्रधानमंत्री उन्हें भी उनके पति से अलग न करवा दें.’


‘मायावती सार्वजनिक जीवन के लायक नहीं हैं.’  

— अरुण जेटली, भाजपा के वरिष्ठ नेता

अरुण जेटली ने यह बात एक ट्वीट के जरिये बसपा प्रमुख मायावती द्वारा नरेंद्र मोदी पर की गई व्यक्तिगत टिप्पणी पर पलटवार करते हुए कही. इसी ट्वीट से उन्होंने यह भी कहा, ‘बहन मायावती आप प्रधानमंत्री बनने को लेकर दृढ़ हैं. लेकिन आपका शासन, नैतिकता और राजनीति अब तक के सबसे निचले स्तर पर है.’


‘दीदी मैं कोलकाता आ रहा हूं, अगर आपमें हिम्मत है तो मुझे गिरफ्तार कर लेना.’  

— अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष

अमित शाह ने यह बात पश्चिम बंगाल के जॉयनगर में एक चुनावी रैली संबोधित करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘आज मुझे बंगाल के जाधवपुर संसदीय क्षेत्र में भी प्रचार के लिए जाना था मगर दीदी (ममता बनर्जी) ने मुझे वहां जाने की इजाजत नहीं दी. क्योंकि वहां से उनका भतीजा चुनाव लड़ रहा है.’ इसके साथ ही अमित शाह ने आगे कहा, ‘ममता बनर्जी चाहे जितनी कोशिश कर लें इस चुनाव में राज्य की जनता तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को हराने का फैसला कर चुकी है.’


‘1984 के सिख दंगों वाले बयान पर मैंने सैम पित्रोदा को सार्वजनिक तौर पर देश से माफी मांगने के लिए कहा था.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात पंजाब के फतेहगढ़ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कही. इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘सिख दंगों वाले बयान को लेकर मैंने सैम पित्रोदा से फोन पर बात की थी. मैंने उनसे कहा था कि आपने उस पर जो भी कुछ कहा है वह गलत है. इसके लिए आपको शर्मिंदा होना चाहिए.’ इससे पहले बीते हफ्ते ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रोदा ने उन दंगों के लिए ‘जो हुआ वह हुआ’ शब्द कहे थे. हालांकि बाद में उसे लेकर उन्होंने सफाई देते हुए माफी भी मांगी थी.