केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा नेता राजनाथ सिंह ने लोकसभा चुनाव 2019 में राजनीतिक दलों व नेताओं के बीच बढ़ती कटुता के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने चुनाव प्रचार में बढ़ रही अभद्र भाषा के इस्तेमाल के लिए पूरी तरह कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी राष्ट्रीय पार्टी के अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री के लिए ‘चोर’ शब्द का उपयोग किया. राजनाथ सिंह ने कहा, ‘प्रधानमंत्री कोई व्यक्ति नहीं होता, यह एक संस्था है और कांग्रेस ने इस संस्था की गरिमा कम की है.’

‘पीटीआई-भाषा’ के साथ बातचीत में भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व अध्यक्ष सिंह ने एक बार फिर दोहराया कि इन लोकसभा चुनावों में भाजपा को 2014 से भी बड़ी जीत हासिल होगी और एनडीए को दो तिहाई बहुमत मिलेगा. उन्होंने दावा किया कि पश्चिम बंगाल में भाजपा के पक्ष में लहर है और पार्टी वहां 42 में से 30 सीट जीत सकती है. वहीं, उत्तर प्रदेश को लेकर कहा कि सपा-बसपा कोई चुनौती नहीं हैं.

राजनाथ ने आचार संहिता के बढ़ते उल्लंघन के लिए भी कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा, ‘ऐसा नहीं होना चाहिए. कांग्रेस ने इसकी शुरूआत की.’ वहीं, यह कहे जाने पर कि प्रधानमंत्री रहते हुए इंदिरा गांधी व राजीव गांधी के खिलाफ भी ‘चोर’ शब्द का इस्तेमाल हुआ था, राजनाथ सिंह ने कहा, ‘पार्टी कार्यकर्ताओं ने नारा लगाया होगा, लेकिन किसी राष्ट्रीय पार्टी का अध्यक्ष प्रधानमंत्री को चोर कहे, ऐसा पहले कभी नहीं हुआ. प्रधानमंत्री तो प्रधानमंत्री होता है.’