केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने दावा किया है कि पिछले ‘पांच सालों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लोगों का भरोसा बढ़ा है. पिछली बार (2014 में) मुकाबला नरेंद्र मोदी बनाम सोनिया गांधी/मनमोहन सिंह था. इस बार नरेंद्र के सामने कोई नहीं है. इसीलिए इस बार भारतीय जनता पार्टी पिछली बार की तुलना में लोक सभा में ज़्यादा सीटें जीत सकती है. भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) को दो-तिहाई बहुमत हासिल होने की संभावना को भी नकारा नहीं जा सकता.’

भाजपा के राष्ट्रीय कार्यालय में मीडिया से बातचीत करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, ‘विपक्षियों का दावा है कि वे सरकार बनाएंगे, लेकिन जनता उनसे पूछ रही है कि उनका नेता कौन है? स्वस्थ लोकतांत्रिक व्यवस्था में जनता को अंधेरे में नहीं रखा जा सकता.’ उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार की प्रमुख रूप से तीन विशेषताएं हैं- एक अंत्योदय, दूसरा देश का विकास और तीसरा देश की सुरक्षा. तीनों क्षेत्रों में हमारी सरकार को शानदार कामयाबी मिली है.’ उनके मुताबिक, ‘जब से आम चुनाव का सिलसिला शुरु हुआ तब से प्रायः हर चुनाव में महंगाई मुद्दा होता था. लेकिन 2004 और 2019 के चुनाव में यह मुद्दा नहीं बना. आर्थिक मंच पर यह हमारी बड़ी कामयाबी है.’

कांग्रेस पर निशाना साधते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, ‘विडंबना है कि आतंकवाद के ख़िलाफ़ हमारी लड़ाई को कांग्रेस ने कमजोर किया. उसने ‘हिंदू आतंकवाद’ की नई थ्योरी दे दी, जिससे आतंकवाद को बढ़ावा मिला. कांग्रेस शुरुआत से गरीबी हटाओ की बात करती आई है. लेकिन गरीबी दूर करने के लिए उसने कोई सार्थक कदम नहीं उठाए. अब राहुल गांधी कह रहे हैं कि अब तक अन्याय होता रहा, हम ‘न्याय’ करेंगे, तो इस अन्याय का जिम्मेदार कौन है?’ सिंह ने कहा, ‘कांग्रेस के पिछले पूरे कामकाज की तुलना नरेंद्र मोदी के पांच साल के काम से की जाए, तो मोदी सरकार ही इस मोर्चे पर भारी पड़ेगी.’