निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज का साथ अब इसके उच्च अधिकारी भी छोड़ने लगे हैं. इस कड़ी में अब कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) विनय दुबे का नाम भी शामिल हो गया है. खबरों के मुताबिक मंगलवार को उन्होंने तुरंत प्रभाव के साथ अपना पद छोड़ने की घोषणा करते हुए इस्तीफा दे दिया. विनय दुबे ने अपने इस फैसले के पीछे निजी कारणों का हवाला दिया है.

विनय दुबे अगस्त 2017 में जेट एयरवेज के साथ जुड़े थे. इससे पहले उन्होंने डेल्टा एयरलाइंस और अमेरिकन एयरलाइंस के साथ काम किया था. वहीं विनय दुबे के इस्तीफे से पहले इसी सोमवार को कंपनी के उप मुख्य एग्जीक्यूटिव और मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) अमित अग्रवाल ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. इस बीच कंपनी के ह्यूमन रिसोर्स प्रमुख राहुल तनेजा के भी जेट एयरवेज छोड़ने संबंधी खबरें आई हैं.

उधर, कुछ ही घंटे के अंतराल पर दो उच्च अधिकारियों के इस्तीफे का असर जेट के शेयर पर भी पड़ा है. मंगलवार के कोराबारी सत्र के दौरान जेट एयरवेज के शेयर में सात प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है.

बीते कुछ महीनों से वित्तीय संकट का सामना कर रही जेट एयरवेज अपने कर्मचारियों को वेतन का भुगतान भी नहीं कर पाई है. इसके बाद कंपनी को अस्थायी तौर पर अपनी सभी उड़ानों का परिचालन भी बंद करना पड़ा है.