बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल को लेकर तंज किया है. बसपा अध्यक्ष ने कहा है, ‘नरेंद्र मोदी मुझसे ज्यादा समय तक के लिए गुजरात के मुख्यमंत्री रहे. लेकिन उनकी विरासत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और देश के सांप्रदायिक इतिहास पर एक काला धब्बा है.’ खबरों के मुताबिक उन्होंने ये बातें पत्रकारों से बात करते हुए कहीं.

इसके साथ ही मायावती ने नरेंद्र मोदी के ‘प्रधानमंत्री कार्यकाल’ पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘नरेंद्र मोदी के शासन के दौरान देश में अराजकता, संकीर्णता, हिंसा, तनाव और अफरा-तफरी भरा माहौल रहा है. इससे पता चलता है कि वह देश पर शासन के लिए उपयुक्त नहीं है.’ इस मौके पर मायावती ने अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल की चर्चा भी की.

उन्होंने कहा, ‘मेरी विरासत पाक-साफ और विकासपूर्ण रही है. मैं चार बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रही. उस दौरान राज्य की कानून-व्यवस्था और अपराध नियंत्रण की दिशा में किए कामों को लेकर को आज भी लोग बसपा सरकार को याद करते हैं. मेरे शासन में हुए विकास कार्यों को भी याद किया जाता है.’

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से नरेंद्र मोदी और मायावती के बीच तीखी बयानबाजी चल रही है. हाल ही में नरेंद्र मोदी ने सपा-बसपा गठबंधन पर ‘जातिवाद की राजनीति’ करने का आरोप लगाया था. इसके अलावा बेनामी संपत्ति को लेकर भी मोदी ने विपक्षी नेताओं को चुनौती दी थी. मोदी ने कहा था, ‘मैंने जो संपत्ति घोषित की है उसके अलावा मेरे पास कुछ नहीं है. अगर किसी को लगता है कि मेरी विदेश में संपत्ति, बैंक बैलेंस, शॉपिंग मॉल वगैरह हैं तो वे उसे साबित करके दिखाए.’

इधर, इस पर मायावती ने कहा है कि नरेंद्र मोदी ने ‘शालीनता की सभी हदें पार’ कर दी हैं. साथ ही बसपा अध्यक्ष के नाते उनके पास जो संपत्ति है वह उन्हें समाज और अपने शुभचिंतकों मिली है. अपनी संपत्ति को लेकर उन्होंने सरकार से कुछ छुपाया नहीं है. मायावती के मुताबिक भाजपा के लोग खुद को पाक-साफ और दूसरों को भ्रष्ट समझते हैं, लेकिन देश अच्छी तरह जानता है कि सबसे ज्यादा बेनामी संपत्तियां भाजपा के लोगों के पास हैं.