रूस ने अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ रहे तनाव पर चिंता जताई है. रूसी राष्ट्रपति कार्यालय क्रेमलिन का कहना है कि अमेरिका के आश्वासन के बाद भी ईरान की घेराबंदी जारी है.

पीटीआई के मुताबिक अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच हुई मुलाकात के एक दिन बाद क्रेमलिन ने यह बात कही है. बुधवार को क्रेमलिन के प्रवक्ता देमेत्री पेस्कोव ने कहा, ‘हमने पाया है कि पोम्पियो के आश्वासन के बाद भी अमेरिका और ईरान के बीच तनाव का बढ़ना जारी है. हालांकि, हमें ईरान के फैसले से दुख पहुंचा है. लेकिन, वॉशिंगटन ईरान को उकसा रहा है.’

इससे पहले मंगलवार को सोची के काला सागर रिजॉर्ट में अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने व्लादिमीर पुतिन को आश्वासन दिया था कि उनका देश ईरान के साथ युद्ध नहीं करेगा. लेकिन, इसके कुछ देर बाद ही खबर आई कि पेंटागन ने परमाणु क्षमता वाले बमवर्षकों को मध्यपूर्व के क्षेत्र में भेज दिया है.

बीते साल राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने साल 2015 में हुए अंतरराष्ट्रीय ईरान परमाणु समझौते से अमेरिका के हटने का फैसला किया था. इसके बाद से ही तेहरान और वॉशिंगटन के बीच तनाव बढ़ा हुआ है.