अभिनेता से नेता बने कमल हासन पर बुधवार को उस समय चप्पलें फेंकी गईं जब वे तमिलनाडु के तिरुप्पारनकुंद्रम विधानसभा क्षेत्र में प्रचार कर रहे थे. यह घटना कमल हासन के उस बयान के तीन दिन बाद हुई जिसमें उन्होंने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘आजाद भारत का पहला आतंकवादी’ बताया था. इस मामले में पुलिस ने हनुमान सेना नाम के संगठन के सदस्यों और भाजपा कार्यकर्ताओं समेत 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. एनडीटीवी के मुताबिक कमल हासन जब स्टेज पर लोगों को संबोधित कर रहे थे, उसी दौरान इन लोगों ने उन पर चप्पलें फेंकीं. हालांकि उनमें से कोई भी चप्पल दक्षिण सुपरस्टार को नहीं लगी.

इससे पहले बीते रविवार को अरवाकुरिची में प्रचार करते हुए कमल हासन ने कहा था, ‘मैं यह इसलिए नहीं कह रहा हूं क्योंकि यह एक मुस्लिम बहुल इलाका है, मैं यह इसलिए कह रहा हूं कि सामने महात्मा गांधी की मूर्ति है. आजाद भारत का पहला आतंकवादी एक हिंदू था, जिसका नाम है नाथूराम गोडसे. वहां से यह (आतंकवाद) शुरू हुआ.’ बता दें कि आगामी रविवार को लोकसभा चुनाव के सातवें चरण के मतदान के साथ तमिलनाडु में चार विधानसभा सीटों पर भी उपचुनाव होने हैं. इनमें अरवाकुरिची और तिरुप्पारनकुंद्रम की सीटें भी शामिल हैं जहां कमल हासन की पार्टी एमएनएम के दो उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं.