पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली ज़रदारी को भ्रष्टाचार के छह मामलों में अंतरिम ज़मानत मिल गई है. पाकिस्तान की भ्रष्टाचार निगरानी संस्था इन मामलों की जांच कर रही है.

ख़बरों के मुताबिक इस्लामाबाद उच्च न्यायालय से आसिफ अली ज़रदारी की अंतरिम जमानत मंज़ूर की है. जस्टिस उमर फारुक की अगुवाई वाली दो जजों की बेंच ने मामले की सुनवाई के दौरान ज़रदारी की बेटी फरयाल तलपुर की भी अग्रिम जमानत मंज़ूर की है. इन सभी मामलों में ज़मानतों की अवधि 21 मई से लेकर 20 जून के बीच अलग-अलग है.

पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) की ओर से मंगलवार को अदालत में पेश 11 पन्नों की रिपोर्ट में बताया गया कि आसिफ अली ज़रदारी के ख़िलाफ़ 36 मामलों में जांच चल रही है. इनमें से कम से कम आठ मामलों में उनकी भूमिका साबित हुई है. ज़रदारी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सह-अध्यक्ष हैं. वे 2008 से 2013 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे हैं.