भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपनी मध्य प्रदेश इकाई के प्रवक्ता अनिल सौमित्र को निलंबित कर दिया है. खबरों के मुताबिक उनके खिलाफ यह कार्रवाई महात्मा गांधी को लेकर उनकी तरफ से दिए एक विवादास्पद बयान के मद्देनजर की गई है. इस संबंध में पार्टी ने उन्हें एक चिट्ठी भी भेजी है जिसमें उनके उस बयान को अनुशासनहीनता बताया है. साथ ही उस बयान पर उनसे सात दिनों के भीतर जवाब देने के लिए भी कहा गया है.

इससे पहले अनिल सौमित्र ने इसी गुरुवार की देर शाम फेसबुक पर एक पोस्ट साझा की थी. इसमें उन्होंने लिखा था, ‘पाकिस्तान का जन्म बापू के आशीर्वाद से हुआ था. वे राष्ट्रपिता थे लेकिन पाकिस्तान के.’ इसके साथ ही अनिल सौमित्र ने यह भी लिखा था, ‘भारत राष्ट्र में उनके जैसे करोड़ों पुत्र हुए. कुछ लायक तो नालायक.’

उस पोस्ट के कुछ घंटे बाद उसके समर्थन में उन्होंने एक और पोस्ट की. उसमें उन्होंने कहा था, ‘मेरे विचार को कोई विद्वान गलत साबित नहीं कर सकता है. मैं अपनी इस पोस्ट को हटाने वाला नहीं हूं.’

इससे पहले इसी गुरुवार को मध्य प्रदेश की भोपाल संसदीय सीट से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने महात्मा गांधी की हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था. हालांकि भाजपा ने उनके उस बयान से किनारा कर लिया था जिसके बाद साध्वी प्रज्ञा ने उस बयान पर माफी मांगी थी.

इधर, प्रज्ञा ठाकुर के उस बयान पर आज एक इंटरव्यू के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है, ‘भले ही उन्होंने (प्रज्ञा ठाकुर ने) माफी मांग ली है लेकिन वे इसके लिए उन्हें मन से कभी माफ नहीं कर पाएंगे.’ जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश के भाजपा प्रवक्ता के खिलाफ यह कार्रवाई प्रधानमंत्री के आज दिए गए बयान के बाद की गई है.