महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ बताने वाले बयान पर देशभर में आलोचना का शिकार हुई भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को भाजपा ने खंडवा के बुरहानपुर में रोड शो से दूर रखा. हालांकि, भाजपा ने इसकी वजह प्रज्ञा ठाकुर की तबीयत ठीक न होना बताया है.

प्रज्ञा ठाकुर शुक्रवार की सुबह खंडवा लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार नंदकुमार सिंह चौहान के पक्ष में रोड शो करने बुरहानपुर पहुंचीं थीं. लेकिन, रोड शो के दौरान वे होटल के कमरे में ही रहीं. मध्य प्रदेश भाजपा के एक नेता ने बताया कि प्रज्ञा ठाकुर को रोड शो से दूर रहने को कहा गया. भाजपा के सूत्रों ने यह भी कहा कि अगली बार प्रज्ञा ने यदि विवादित बयान दिया तो पार्टी उन्हें बाहर का रास्ता भी दिखा सकती है.

विवादित बोल के बाद भाजपा ने प्रज्ञा के बयान से पल्ला झाड़ लिया था. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी खरगोन में चुनावी यात्रा के दौरान एक टीवी चैनल से कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया जाना महात्मा गांधी का अपमान है और वह इस टिप्पणी के लिए प्रज्ञा को मन से कभी माफ नहीं कर पायेगें. प्रज्ञा 2008 में हुए मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी हैं और फिलहाल जमानत पर हैं. उन्होंनेे मुंबई में 26/11 के आतंकवादी हमले में शहीद पुलिस अधिकारी हेमंत करकरे पर भी आपत्तिजनक बयान दिया था.