प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की प्रेस कॉन्फ्रेंस को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. बीते पांच वर्षों में यह पहला मौका था जब प्रधानमंत्री पत्रकारों के सामने जवाब देने के लिए मौजूद थे. हालांकि, उन्होंने मीडिया को संबोधित करने के बाद मीडिया के किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया. उन्होंने दावा किया कि एक बार फिर उनकी पार्टी बहुमत के साथ केंद्र में सरकार बनाएगी. वहीं, अमित शाह ने कहा कि चुनावी नतीजे के बाद जो दल एनडीए में शामिल होना चाहेंगे, उनका स्वागत किया जाएगा.

दिल्ली : पहली बार पीरियड के चलते परेशान बच्ची ने खुदकुशी की

दिल्ली के बुराड़ी में पीरियड आने से परेशान 12 साल की बच्ची ने खुदकुशी कर ली. यह अपनी तरह का पहला मामला बताया जा रहा है. हिन्दुस्तान में प्रकाशित खबर के मुताबिक बच्ची की बड़ी बहन ने बताया, ‘दो दिन पहले उसे (बच्ची) पीरियड आया था. इससे वह तनाव में आ गई थी.’ अखबार ने बताया कि बड़ी बहन के समझाने के बाद भी उसकी परेशानी कम नहीं हुई थी. वहीं, परिवार के अन्य सदस्यों का भी मानना है कि इस वजह से ही बच्ची ने खुदकुशी की. उधर, सर गंगाराम अस्पताल के मनोचिकित्सक डॉ राजीव मेहता का कहना है, ‘पहले 13 से 14 साल की उम्र में किशोरियों के शरीर में बदलाव देखने को मिलते थे. ये बदलाव अब 11 से 12 साल में होने लगे हैं. इस उम्र में बच्चियां इनके लिए मानसिक रूप से तैयार नहीं होती हैं. इस बारे में बच्चियों को पहले से जानकारियां देना जरूरी है, ताकि वे मानसिक रूप से इसके लिए तैयार हो सकें.’

23 मई से भाजपा नेताओं के बुरे दिनों की शुरुआत होने वाली है : मायावती

बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा है. द हिंदू के मुताबिक शुक्रवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश की जनसभा में उन्होंने कहा, ‘छह चरणों के मतदान के बाद भाजपा नेताओं के उदास चेहरे इस बात का संकेत दे रहे हैं कि मोदी सरकार के जाने का वक्त आ चुका है. 23 मई से उनके बुरे दिनों की शुरुआत होने वाली है. इसके बाद आदित्यनाथ के लिए उनके मठ (गोरखनाथ) वापसी की तैयारियां शुरू होंगी.’ साथ ही, मायावती ने चुनाव नतीजों के बाद भी सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के बने रहने की बात कही. उन्होंने इस गठबंधन में सभी दलों की विचारधारा एक होने का दावा किया. वहीं, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी कहा, ’23 मई नजदीक है और उनका (भाजपा) डर बढ़ता ही जा रहा है.’

भाजपा विरोधी दलों को साथ लाने की जिम्मेदारी अशोक गहलोत को मिली

कांग्रेस नेतृत्व ने भाजपा विरोधी दलों को एक साथ लाने की जिम्मेदारी राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौंपी है. दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक इस काम में अहमद पटेल और केसी वेणुगोपाल भी उनकी मदद करेंगे. बताया जाता है कि गुरुवार को यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी ने अशोक गहलोत को बुलाकर इस बारे में बातचीत की थी. उन्होंने 23 मई को चुनावी नतीजे आने से पहले 10 राजनीतिक दलों के नेताओं से संपर्क साधने को कहा है. इनमें ममता बनर्जी, अखिलेश यादव, एन चंद्रबाबू नायडू, तेजस्वी यादव, मायावती, नवीन पटनायक, अरविंद केजरीवाल और के चंद्रशेखर राव जैसे नेता शामिल हैं. गहलोत का इनमें से कई के साथ अच्छे संबंध रहे हैं. माना जा रहा है कि इसी का फायदा पार्टी उठाना चाहती है.

केंद्र सरकार ने स्विट्जरलैंड से हासिल कालेधन की सूचनाओं को साझा करने से इनकार किया

केंद्र सरकार ने स्विट्जरलैंड से हासिल कालेधन की सूचनाओं को साझा करने से इनकार कर दिया है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक इस बारे में सूचना के अधिकार (आरटीआई) आवेदन के जरिए जानकारी मांगी गई थी. हालांकि, वित्त मंत्रालय ने गोपनीयता का हवाला देते हुए इससे इनकार कर दिया. मंत्रालय का कहना है कि भारत और स्विट्जरलैंड कालेधन के मामले के आधार पर सूचनाओं का आदान-प्रदान करते हैं और इनके आधार पर जांच की जाती है. वित्त मंत्रालय का कहना है कि जांच की यह प्रक्रिया अभी चल रही है.

नेपाल : सेना के जवान सहित दो और भारतीय पर्वतारोहियों की मौत

नेपाल में भारतीय पर्वतारोहियों की मौत का सिलसिला रुकता नहीं दिख रहा है. अमर उजाला में छपी खबर के मुताबिक शुक्रवार को दो और पर्वतारोहियों की मौत हो गई. वहीं, एक अन्य लापता है. बताया जाता है कि मृतकों में एक भारतीय सेना का 28 वर्षीय जवान रवि ठाकर भी शामिल है. रवि ने माउंट एवरेस्ट फतह कर लिया था. लेकिन, नीचे आने के दौरान उनकी मौत हो गई. वहीं, लापता भारतीय की तलाश के लिए एक सर्च टीम भेजी गई है. इससे पहले गुरुवार को भी दो भारतीयों की माउंट मकालू से नीचे उतरते वक्त मौत हो गई थी.