दक्षिण पाकिस्तान के लरकाना जिले में 400 से अधिक बच्चे एचआईवी से संक्रमित पाए गए हैं. समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के मुताबिक सिंध प्रांत में एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के प्रमुख सिकंदर मेमन ने इसकी पुष्टि की है.

सिकंदन मेनन ने बताया, ‘हमारे अधिकारियों ने लरकाना के 13,800 लोगों की जांच की. उसमें 410 बच्चे तथा 100 वयस्क एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं.’ वहीं पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देशभर में एचआईवी संक्रमण के 23,000 से अधिक मामले दर्ज़ किए गए हैं. ज़्यादातर मामलों में संक्रमित सिरिंज के इस्तेमाल से एचआईवी फैलने का पता चला है.

ख़बरों के मुताबिक बड़े पैमाने पर एचआईवी संक्रमण के मामले सामने आने के बाद पुलिस और जांच एजेंसियां सक्रिय हुईं. इस जांच के दौरान डॉक्टर मुज़फ्फ़र गांघरो की भूमिका संदिग्ध पाई गई. जांच अधिकारियों के मुताबिक डॉक्टर गांघरो ख़ुद एचआईवी संक्रमित है. उसने संक्रमित सिरिंजाें से बच्चों और अन्य मरीज़ों में भी संक्रमण फैलाया. उसे ग़िरफ़्तार कर लिया गया है. पुलिस और जांच एजेंसियां अब उससे यह जानने की कोशिश कर रही हैं कि उसने यह सब जानबूझकर तो नहीं किया है.