दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने ही अंगरक्षकों और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से अपनी जान को खतरा बताया है. उन्होंने कहा है, ‘मैं अकेला ऐसा मुख्यमंत्री हूं जिसकी सुरक्षा उसके अपने हाथ में नहीं है. मेरे आगे-पीछे जितने पुलिस वाले चलते हैं, सब भाजपा की सरकार को रिपोर्ट करते हैं. मेरा पीएसओ (अंगरक्षक) भी भाजपा को रिपोर्ट करता है. भाजपा के लोग इंदिरा गांधी की तरह मेरे ही पीएसओ से मुझे खत्म करा सकते हैं. मेरी जिंदगी दो मिनट में खत्म हो सकती है.’ अरविंद केजरीवाल ने ये बातें लोकसभा के इस चुनाव के आखिरी चरण के मतदान के लिए प्रचार खत्म होने से पहले एक इंटरव्यू में कहीं.

इस मौके पर उन्होंने यह भी कहा, ‘दिल्ली का मुख्यमंत्री रहते हुए मुझ पर पांच हमले हो चुके हैं. भाजपा के लोग मुझ पर हमला करने वालों को आम आदमी पार्टी (आप) का नाराज कार्यकर्ता बताते हैं. भाजपा के लोग कहते हैं कि आप का कार्यकर्ता केजरीवाल से नाराज होगा इसीलिए उसने हमला किया है.’ उन्होंने आगे कहा, ‘मैं नहीं जानता कि कोई मेरी जिंदगी क्यों लेना चाहेगा. मैं लोगों के बच्चों को स्कूल भेज रहा हूं, अस्पताल में उनका इलाज करा रहा हूं. मैं पुण्य के काम कर रहा हूं.’ अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, ‘विपक्षी पार्टियां स्कूल, कॉलेज, बिजली, पानी की राजनीति खत्म करना चाहती हैं ​ताकि वे आसानी से लूट मचा सकें.’

इधर, आप के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने केजरीवाल की बातों का समर्थन किया है. साथ ही हाल में उन पर हुए हमले के मद्देनजर उनके लिए ‘जेड’ श्रेणी की सुरक्षा की मांग भी की है. उनका यह भी कहना है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री पर पुलिस की मौजूदगी में कई हमले हो चुके हैं. इन हमलों को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की गई है. दिल्ली पुलिस पर हमें भरोसा नहीं है.

इससे पहले लोकसभा के इस चुनाव के प्रचार के दौरान इसी महीने दिल्ली के मोती नगर इलाके में भी केजरीवाल पर एक शख्स ने हमला किया था. तब केजरीवाल अपनी पार्टी के प्रत्याशी के लिए रोड शो कर रहे थे. उसी दौरान वह हमलावर उनकी खुली जीप पर चढ़ गया था और उसने उन्हें थप्पड़ मार दिया था. हालांकि इसके फौरन बाद आप कार्यकर्ताओं ने हमलावर शख्स को जीप से नीचे खींचकर उसकी पिटाई भी कर दी थी. बाद में पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया था.