पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के नेता अभिषेक बनर्जी ने अपने वकील के जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मानहानि का एक नोटिस भिजवाया है. इसके साथ ही उन्होंने नरेंद्र मोदी से यह नोटिस मिलने के 36 घंटे के भीतर बिना शर्त माफी मांगने के लिए कहा है. और ऐसा नहीं करने पर उनके खिलाफ आगे की ‘आवश्यक कार्रवाई’ शुरू करने की बात भी कही है.

खबरों के मुताबिक नरेंद्र मोदी ने इसी बुधवार को पश्चिम बंगाल के डायमंड हार्बर में एक चुनावी रैली की थी. उस दौरान अपने संबोधन में उन्होंने ममता बनर्जी के साथ अभिषेक बनर्जी पर भी टिप्पणियां की थी. टीएमसी नेता ने इस नोटिस में मोदी की उन टिप्पणियों को आपत्तिजनक बताया है. उनके मुताबिक प्रधानमंत्री का वह भाषण अनेक जगहों पर प्रसारित-प्रकाशित हुआ था जिससे उनकी छवि को नुकसान पहुंचा है.

इससे पहले उस दिन नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल की टीएमसी सरकार को बुआ-भतीजा (ममता-अभिषेक बनर्जी) का ‘दुखदायी शासन’ बताया था. साथ ही ममता बनर्जी के राज में पश्चिम बंगाल के लोकतंत्र को ‘गुंडातंत्र’ में तब्दील हो जाने की बात भी कही थी. उन्होंने यह कहा था कि राज्य की जनता लोकसभा के इस चुनाव में ‘गुंडाक्रेसी’ के खिलाफ ममता बनर्जी को उचित जवाब देगी.

टीमएसी के दूसरे शीर्ष नेता माने जाने वाले अभिषेक बनर्जी डायमंड हार्बर संसदीय सीट से चुनावी मैदान में हैं. वहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उनके खिलाफ इस सीट से नीलांजन रॉय को उतारा है. इस निर्वाचन क्षेत्र में इसी रविवार को मतदान होगा.