इतिहास में 20 मई का दिन बिपिन चंद्र पाल के निधन के रूप में दर्ज है. वे एक स्वतंत्रता सेनानी होने के अलावा शिक्षक, पत्रकार और लेखक भी थे. भारत की आजादी में ‘लाल-बाल-पाल’ की अहम भूमिका मानी जाती है. इनमें ‘लाल’ थे लाला लाजपत राय, ‘बाल’ थे बालगंगाधर तिलक और ‘पाल’ थे बिपिन चंद्र पाल. वे इन दोनों नेताओं की तरह ‘गरम दल’ के नेता के रूप में जाने जाते थे जो अहिंसा के जरिये आजामी प्राप्त करने का विरोध करते थे. साल 1932 में आज ही के दिन उनका कलकत्ता (अब कोलकाता) में निधन हो गया था.

देश-दुनिया के इतिहास में 20 मई के दिन दर्ज अन्य महत्वपूर्ण घटनाओं का सिलसिलेवार ब्योरा इस प्रकार है :

1900 : हिंदी जगत के प्रसिद्ध कवि सुमित्रानंदन पंत का जन्म.

1918: 1947 के भारत पाक-युद्ध में अहम भूमिका निभाने वाले भारतीय सेना के वीर सैनिक पीरू सिंह का जन्म.

1929 : स्वतंत्रता सेनानी और चंपारण सत्याग्रह के प्रमुख लोगों में से एक राजकुमार शुक्ल का निधन.

1957 : स्वतंत्रता सेनानी और आंध्रा राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री टी प्रकाशम का निधन.

1972 : ब्रजभाषा के प्रसिद्ध कवि गया प्रसाद शुक्ल ‘सनेही’ का निधन.

1995 : रूस द्वारा मानव रहित अंतरिक्ष स्टेशन ‘स्पेक्त्र’ का सफल प्रक्षेपण किया गया.

1999 : कुर्द विद्रोही नेता सेमडिम साकिक को मृत्युदंड की सजा दी गई.

2000 : फिजी में जॉर्ज स्पेट बने अंतरिम प्रधानमंत्री.

2001 : अफगानिस्तान में तालिबान ने हिंदुओं की अलग पहचान के लिए ड्रेस कोड बनाया.

2011 : प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मध्य प्रदेश के बीना में हजारों करोड़ की लागत से बनी ऑइल रिफाइनरी देश को समर्पित की. यह भारत पेट्रोलियम लिमिटेड, ओमान ऑइल कंपनी और मध्य प्रदेश सरकार के प्रयासों से बनी विश्व स्तरीय परियोजना है.

2011 : झारखंड की पर्वतारोही प्रेमलता अग्रवाल ने दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली सबसे उम्रदराज भारतीय महिला होने का गौरव हासिल करते हुए पर्वतारोहण के क्षेत्र में एक नया इतिहास रचा.

2012 : प्रसिद्ध मानव विज्ञानी और नारीवादी विद्वान लीला दुबे का निधन हुआ था.