लोक सभा चुनाव के आख़िरी चरण के मतदान के बीच ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केदारनाथ यात्रा को लेकर बहस जारी है. उनकी इस यात्रा की विपक्षी दलों द्वारा लगातार आलोचना के बीच सोमवार को भारतीय जनता पार्टी की सहयाेगी जनता दल-यूनाइटेड (जेडीयू) के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी इसके पक्ष में आए. उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धार्मिक व्यक्ति हैं, उनकी केदारनाथ यात्रा में ग़लत क्या है? अगर उन्होंने वहां जाकर पूजा-अर्चना की है तो मुझे इसमें कुछ ग़लत नहीं लगता.’

मीडिया से बातचीत में केसी त्यागी ने विपक्षी गठबंधन पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘विपक्ष का गठबंधन दो धड़ों में बंटा हुआ है. इसमें एक का नेतृत्व कांग्रेस कर रही है. दूसरे के नेतृत्व के लिए दावेदारी टीएमसी (तृणमूल कांग्रेस), टीडीपी (तेलुगु देशम पार्टी), समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच है.’ इसके साथ ही उन्होंने भराेसा जताया कि केंद्र में ‘फिर से नरेंद्र मोदी सरकार पूरे बहुमत के साथ लौट रही है. उसके सामने विपक्ष से कोई चुनौती नहीं दिखती.’

ग़ौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीते शनिवार को केदारनाथ धाम की यात्रा पर गए थे. इसके बाद उन्होंने वहीं रुककर अगले दिन रविवार को बद्रीनाथ धाम की यात्रा भी की. मीडिया के सभी माध्यमों में इसकी तस्वीरें और ख़बर भी प्रकाशित-प्रसारित हुईं. जबकि रविवार को ही लोक सभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण का मतदान भी था. इसीलिए विपक्षी दलों ने प्रधानमंत्री की यात्रा को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताया था. चुनाव आयोग से इस पर कार्रवाई की मांग की थी.