लोक सभा चुनाव के नतीज़े 23 मई को आने हैं. लेकिन बैठकों और उनमें विचार-विमर्श, रणनीतिमंथन का काम शुरू हो चुका है. विपक्षी दल तो रविवार को आख़िरी चरण के मतदान के समय से ही सक्रिय हैं. अब ख़बर है कि सत्ताधारी पक्ष में भी हलचल शुरू हुई है. ख़बरों के मुताबिक 21 मई को भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) के नेताओं की बैठक बुलाई है.

बताया जाता है कि बैठक के बाद अमित शाह एनडीए नेताओं को रात्रिभोज भी दे सकते हैं. इसी दौरान चुनाव परिणामों के बाद की स्थिति पर विचार किया जाएगा. ग़ौरतलब है कि रविवार शाम को ही आए एक्ज़िट पोल के नतीज़ों में एनडीए की सुरक्षित सत्ता में वापसी का अनुमान लगाया गया है. कुल 14 एजेंसियों के सर्वे सामने आए हैं. इनमें से 12 का अनुमान है कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार औसतन 300 से अधिक सीटों के साथ फिर सत्ता में लौट सकती है.

वहीं दूसरी तरफ़ कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूपीए (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन) को 82 से 165 के बीच सीटें मिलने का अनुमान है. हालांकि इन अनुमानों को ख़ारिज़ करते हुए चंद्रबाबू नायडू और ममता बनर्जी जैसे विपक्ष के नेता अब भी भरोसा जता रहे हैं कि केंद्र में अगली सरकार ग़ैरएनडीए की होगी. वे उसी के मद्देनज़र रणनीति भी बना रहे हैं.