सीबीआई ने समाजवादी पार्टी (सपा) के संस्थापक और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव और उनके पुत्र तथा मौजूदा सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को आय से अधिक संपत्ति के मामले में क्लीन चिट दे दी है. जांच एजेंसी ने आज सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दायर कर कहा कि उसे दोनों पिता-पुत्र के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं जिसके आधार पर उन पर नियमित मुकदमा चलाया जा सके. न्यूज एजेंसी एएनआई ने कुछ देर पहले यह जानकारी दी है.

इससे पहले अप्रैल में सीबीआई ने मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव और प्रतीक यादव के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में सुप्रीम कोर्ट में जवाब दाखिल कर बताया था कि उसने 2013 में इन तीनों के खिलाफ प्राथमिक जांच बंद कर दी थी. उसने शीर्ष अदालत के आदेश पर ही यह जवाब दाखिल किया था.

उधर, सीबीआई का आज का बयान मुलायम और अखिलेश के लिए राहत भरा है. लेकिन यह ऐसे समय में आया है जब दो दिन बाद लोकसभा चुनाव के परिणाम घोषित होने वाले हैं. ऐसे में इसके सियासी मायने निकाले जाना तय है.